Sports

तिरूपति :  किक्रेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने दो साल पहले किए गए अपने वादे को आंध्र प्रदेश के एसपीएस नेल्लोर जिले में पुट्टमराजुवारी कंडरिगा गांव में एक युवक के घर जाकर पूरा किया। कंदरीगा गांव के गोपालैया और विजयलक्ष्मी के लिए यह सपना सच होने जैसा था जब सचिन तेंदुलकर 110 किलोमीटर दूर गुडालुर स्थित उनके घर में चाय पीने आए। गांव में हेलीकॉप्टर से उतरने के बाद सचिन बेंगलूरू के एक निजी कंपनी में एक छोटी-मोटी नौकरी करने वाले महेश के घर गए और परिवार के साथ चाय पी।

सचिन ने 2 साल पहले 16 नवंबर को गांव गोद लिया था और वह बुधवार को विकास का जायजा लेने के लिए दूसरी बार गांव आए थे। महेश की मां विजयलक्ष्मी ने बताया कि अगली बार मैं चाहूंगी कि सचिन अपनी पत्नी को साथ लाए और हमारे घर आएं।


बता दें कि सचिन ने साल 2014 में 'संसद आदर्श ग्राम योजना' के तहत पुट्टमराजुवारी कंडरिगा गांव गोद लिया था। सचिन ने यहां आवास, सड़क निर्माण और दूसरी विकास परियोजनाओं के लिए उन्होंने सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास योजना (एमपीएलएडीएस) कोष से 2.79 करोड़ रुपए दिए थे।