Sports

इंदौर: न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने आज कहा कि रविचंद्रन अश्विन का सामना करते हुए टीम किसी तरह के दबाव में नहीं थी लेकिन भारत के खिलाफ 3 टैस्ट मैचों की श्रृंखला में 0-3 से करारी हार के दौरान इस आफ स्पिनर की शानदार गेंदबाजी के सामने वह टिक नहीं पाई।  

भारत की न्यूजीलैंड पर तीसरे और अंतिम टैस्ट मैच में 321 रन से जीत के बाद विलियमसन ने कहा कि नहीं दबाव नहीं था। गेंद टर्न हो रही थी और इन परिस्थितियों में उसने (अश्विन) शानदार गेंदबाजी की। स्पिनरों ने परिस्थितियों का पूरा मजा लिया और अश्विन ने इन परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाया और वह लंबे समय से ऐसा कर रहे हैं। वह 'मैन आफ द सीरीज' के सही हकदार हैं।

अश्विन ने पहले और तीसरे टैस्ट मैच में दस या इससे अधिक विकेट लिए और श्रृंखला में कुल 27 विकेट हासिल किए। विलियमसन ने स्वीकार किया कि उनकी युवा टीम ने इन परिस्थितियों में विश्व के शीर्ष स्पिनरों का सामना करते हुए काफी कुछ सीखा।  उन्होंने कहा कि हमारे लिहाज से सकारात्मक बात यह रही कि हमने इस तरह के विकेटों पर विश्व के दो सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों का सामना किया और हमारी कमजोरी सामने आयी। जब आप इस तरह की स्थिति में होते हो तो यह निराशाजनक होती है लेकिन आपको काफी सीख भी मिलती है। यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की खूबसूरती है। आप इन परिस्थितियों में जितने अधिक मैच खेलोगे आप उतने अधिक बेहतर बनते जाओगे।