Sports

विशाखापत्तनम : रविचंद्रन अश्विन ने मीडिया से कहा कि वे धीमी और स्पिनरों के मुफीद भारतीय पिचों की आलोचना करना बंद कर दें क्योंकि वह बार बार दोहराए जाने वाले इस तरह के सवालों का जवाब देते देते थक गए हैंं। दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन भारत के पहली पारी में 455 रन के स्कोर के जवाब में इंग्लैंड की टीम घरेलू स्पिनरों के दबदबा बनाने से 103 रन पर पांच विकेट गंवाकर जूझ रही है।

अश्विन से जब पिच के बारे में उनके आकलन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘मैं नहीं जानता कि हम पर इस तरह के तंज क्यों कसे जाते हैं। ईमानदारी से कहूं तो यह एक ताने की तरह दिखता है कि आप भारतीय विकेटों को इस तरह देखते हो। एेसा सचमुच लगता है। आप लोग पूरे दिन मैच देखते हो और पिच का आकलन आप हमसे बेहतर तरीके से कर सकते हो। ’’  उन्होंने कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो एक दिन प्रेस कांफ्रेंस में आकर इस तरह पिच के बारे में सवालों का जवाब नहीं देना चाहूंगा। ’’

अश्विन ने जो रूट (53) के अहम विकेट सहित दो विकेट प्राप्त किए। उन्होंने पिच के बारे में कहा कि यह उनकी पसंद के अनुरूप थी। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे पिच पर गेंदबाजी करने में मजा आया। विकेट कुछ समय बाद खराब हो सकता है। इस पर बल्लेबाजी करना और ज्यादा मुश्किल हो जाएगा। ’’