Sports

मलेशिया: भारत को चौथी एशियाई चैम्पियन्स ट्राफी के सैमीफाइनल में मजबूत होकर उभरे दक्षिण कोरिया के खिलाफ ठोस प्रदर्शन की उम्मीद होगी लेकिन दिग्गज गोलकीपर पीआर श्रीजेश की टखने की चोट से टीम कुछ चिंतित होगी। डिफेंडर सुरेंदर कुमार का निलंबन भी भारत के लिए परेशान करने वाला है। 

वर्ष 2011 में टूर्नामैंट के पहले सत्र में जीते खिताब को दोबारा अपने नाम करने के इरादे से उतरने वाले भारत ने दक्षिण कोरिया की युवा टीम के खिलाफ लीग मैच 1-1 से बराबर खेला था लेकिन तब से विरोधी टीम के प्रदर्शन में काफी सुधार हुआ है।  भारतीय टीम राउंड रोबिन लीग चरण के बाद शीर्ष पर थी।   

भारतीय कोच रोलैंट ओल्टमैंस ने भी स्वीकार किया कि कोरिया के खिलाफ मुकाबला आसान नहीं होगा।  ओल्टमैंस ने कहा कि दक्षिण कोरिया की टीम अच्छी है जिसने टूर्नामैंट के दौरान अपने स्तर में सुधार किया है। हमने कल देखा कि वे क्या कर सकते हैं। उनका मजबूत पक्ष उनका डिफेंस है। श्रीजेश की चोट के संदर्भ में ओल्टमैंस ने कहा कि मुझे लगता है कि श्रीजेश खेल पाएगा। वह टखने की चोट से उबर रहा है लेकिन अगर वह सैमीफाइनल में नहीं भी खेल पाता तो भी आकाश चिक्ते काफी अच्छा रिजर्व विकेटकीपर है।