Sports

नई दिल्लीः महिला विश्व कप फाइनल में कल इंग्लैंड के खिलाफ 86 रन की पारी खेलने वाली भारतीय बल्लेबाज पूनम राउत बचपन से सचिन तेंदुलकर की मुरीद रही है और उन्हें खेलता देखकर उसने बल्लेबाजी की कई बारीकियां सीखी है। पूनम की इस पारी के बावजूद भारत को फाइनल में नौ रन से पराजय झेलनी पड़ी और उनके पिता गणेश राउत ने बताया कि इस दुख से वह अभी तक उबरी नहीं है और घर पर भी फोन नहीं किया।  

बचपन से है सचिन की मुरीद
गणेश ने बातचीत में कहा कि हम भी उसके फोन का इंतजार कर रहे हैं। वह हार से इतनी दुखी है कि अभी तक हमसे भी बात नहीं की। पूनम ने टूर्नामेंट में नौ मैचों में 67 . 43 की औसत से 381 रन बनाये जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल है और वह सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में पांचवें स्थान पर रही। मुंबई की रहने वाली पूनम बचपन से तेंदुलकर की मुरीद रही है और उनके पिता ने बताया कि वह उनकी बल्लेबाजी देखने का कोई मौका नहीं छोड़ती थी। 

सचिन की तरह खेलती है स्ट्रोक्स
उन्होंने कहा कि बचपन से वह सचिन की फैन रही है। जब भी मौका मिलता, उनकी बल्लेबाजी देखती और सीखने की कोशिश करती थी। उसके पास कई स्ट्रोक्स एेसे हैं जो सचिन सर के बल्ले से देखने को मिलते थे। मुंबई के बांद्रा कुर्ला परिसर में अक्सर अर्जुन तेंदुलकर के साथ अभ्यास के दौरान पूनम को सचिन से मुलाकात का मौका भी मिला ।