Sports

कैलीफोर्निया: पुरुष बैडमिंटन में भारतीय खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन जारी है जिस कड़ी में राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता पारूपल्ली कश्यप ने यहां 120000 डालर इनामी अमेरिकी ओपन ग्रां प्री गोल्ड के फाइनल में जगह बनाई जहां उनका सामना हमवतन एचएस प्रणय से होगा।  अक्तूबर 2015 में पिंडली की चोट के कारण बीच मैच से हटने वाले कश्यप ने तब से अब तक 21 महीने में पहली बार किसी टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया है। 

चोटों से जूझने वाले प्रणय भी पिछले साल स्विस ओपन का खिताब जीतने के बाद पहली बार फाइनल में पहुंचे हैं। कश्यप ने एक घंटे और छह मिनट चले फाइनल में कोरिया के क्वांग ही हियो को कड़े मुकाबले में 15-21 21-15 21-16 से हराया।  दूसरी तरफ प्रणय ने वियतनाम के टिएन मिन्ह एनगुएन को सीधे गेम में 21-14 21-19 से शिकस्त दी।  मौजूदा सत्र में यह दूसरी बार है जब किसी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता के फाइनल में दो भारतीय खिलाड़ी आमने सामने होंगे। 

अप्रैल में के श्रीकांत और बी साई प्रणीत ने सिंगापुर ओपन के फाइनल में जगह बनाई थी जिसमें प्रणीत ने अपना पहला सुपर सीरीज खिताब जीता। मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की जोड़ी को हालांकि कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद ल्यू चिंग याओ और यांग पो हान की शीर्ष वरीय जोड़ी के खिलाफ 12-21 21-12 20-22 से शिकस्त का सामना करना पड़ा।