Sports

नई दिल्ली: दिग्गज क्यू खिलाड़ी पंकज आडवाणी का मानना है कि भारत अब भी ऐसे चरण में नहीं पहुंचा है जहां खेल नीति बनाने के दौरान खिलाड़ी उसका केंद्र हों।  आडवाणी ने आज केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल से मिलकर भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) से जुड़े मुद्दों पर उनसे बात की। 

आडवाणी ने कहा कि मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि खेल नीति में बनाने के दौरान खिलाड़ी इसका केंद्र होने चाहिए और भारत में हम इस चरण में नहीं पहुंचे हैं। सोलह बार के विश्व चैम्पिंयन आडवाणी ने कहा कि काफी बार खिलाडिय़ों को अधिकारियों के पीछे भागना पड़ता है जबकि उन्हें अपने खेल पर ध्यान लगाना चाहिए। उनके सहायता के लिए अन्य लोग होने चाहिए फिर चाहे वह महासंघ हो या साइ या कोच। हम इस चरण में नहीं पहुंचे हैं।’’  

खेल मंत्री के साथ साइ से जुड़े जिन मुद्दों पर चर्चा हई उस बारे में पूछने पर आडवाणी ने विशिष्ट जानकारी देने से इनकार कर दिया। आडवाणी ने कहा कि कुछ चीजें ऐसी हैं जिन पर मैं अभी चर्चा नहीं करना चाहता क्योंकि वे संवेदनशील हैं। खेल मंत्री ने मदद का वादा किया है। मुझे उनके कार्यालय के साथ समंवय करना होगा और उन्हें विस्तृत जानकारी देनी होगी जिससे कि चीजें सही हों। आडवाणी ने भारतीय ओलिंपिक संघ के साथ समंवय में भी गोयल की मदद मांगी जिससे कि खेल को ओलिंपिक में शामिल करने के प्रयास को बल मिले। क्यू खेल एशियाई खेलों का हिस्सा हैं।