Sports

कोलकाताः भारत की अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने आज कहा कि उनका सपना विश्व कप खिताब जीतना ही है, हालांकि वह वनडे अंतरराष्ट्रीय मैचों में 200 विकेट चटकाने वाली पहली महिला क्रिकेटर बन गई हैं। ऐड़ी की चोट के कारण झूलन आज स्वदेश लौट आई जिससे वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चल रही मौजूदा टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज नहीं खेल पाएगी। अब वह इस चोट से उबरने के लिए बेंगलुरू में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के लिए रवाना होंगी जिसमें चार से छह हफ्ते का समय लगेगा।

भारत ने कभी भी विश्व कप नहीं जीता है, टीम पिछले साल जुलाई में लाड्र्स में मेजबान इंग्लैंड से करीब से नौ रन से हारकर वनडे विश्व कप खिताब से चूक गई थी जो उनकी फाइनल मुकाबले में दूसरी हार थी। लेकिन 2018 में टीम को एक और मौका मिलेगा। गत चैम्पियन वेस्टइंडीज नौ से 24 नवंबर तक विश्व ट्वंटी-20 की मेजबानी करेगा। झूलन ने स्वदेश लौटने के बाद पीटीआई से कहा, ‘‘तैयारियां दक्षिण अफ्रीका में सीरीज के साथ ही शुरू हो गई हैं। बस एक साल का समय बचा है, यह हमारे लिए तैयारी शुरू करने का सही समय है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर हम जीत जाते हैं तो यह शानदार होगा। निश्चित रूप से मैंने विश्व कप को दिमाग में रखते हुए ही खेलना शुरू किया था। यह हर साल नहीं आता है। इसमें चार साल का समय लगता है। यह ओलंपिक स्वर्ण जीतने जैसा ही है।’’ 

झूलन ने अपना 200वां विकेट सात फरवरी को किम्बरले में 166वें वनडे में हासिल किया था, तब उन्होंने पांचवें ओवर में दक्षिण अफ्रीका की लौरा वोलवार्ड को अपनी आउटस्विंगर से पवेलियन भेजा था। इस मैच में भारत ने मेजबान टीम को 178 रन से हराया था। उन्होंने कहा, ‘‘जब मैंने अपना करियर शुरू किया था तो इस उपलब्धि के बारे में नहीं सोचा था। लंबे करियर में आप उपलब्धियां हासिल करते हो। लेकिन मैं कभी इन उपलब्धियों के पीछे नहीं भागी।’’