Sports

नई दिल्ली: ओलिंपियन अखिल कुमार और जितेंद्र कुमार रिंग में बतौर प्रोफेशनल मुक्केबाज लौटना चाहते हैं और इसी की इजाजत लेने के लिए उन्होंने शुक्रवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात भी की। 

मुक्केबाज अखिल और जितेंद्र ने यहां हरियाणा भवन में मुख्यमंत्री खट्टर से मुलाकात की और उनसे पेशेवर मुक्केबाजी का हिस्सा बनने की इजाजत मांगी। दोनों मुक्केबाज स्टार खिलाड़ी और बीजिंग ओलंपिक के पदक विजेता विजेन्दर सिंह की तरह ही प्रोफेशनल मुक्केबाजी का हिस्सा बनना चाहते हैं। विजेन्दर गत वर्ष अक्टूबर में प्रो मुक्केबाज बने थे। दोनों मुक्केबाजों ने प्रोफेशनल मुक्केबाजी के लिए हरियाणा पुलिस से भी इजाजत मांगी है। अखिल और जितेंद्र ने इसके लिये हरियाणा पुलिस के महानिदेशक के पी सिंह से सात नवंबर को मुलाकात कर इसके लिए आधिकारिक रूप से अपील की थी। बीजिंग ओलंपिक के क्वार्टरफाइनल तक पहुंचे मुक्केबाज फिलहाल हरियाणा पुलिस में डीएसपी के पद पर तैनात हैं और मुक्केबाजी में अपने करियर की दोबारा शुरूआत करना चाहते हैं।  

इससे पहले विजेन्दर ने भी इसी तरह से मुख्यमंत्री से इजाजत मांगी थी, वह भी हरियाणा पुलिस में कार्यरत हैं और फिलहाल पेशेवर मुक्केबाजी में काफी सफल साबित हो रहे हैं। विजेन्दर के प्रो बनने के बाद से कई मुक्केबाजों ने इसमें दिलचस्पी दिखाई है।  अखिल ने मुख्यमंत्री से मिलने के बाद कहा कि हमारे लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिलना काफी अच्छा अनुभव रहा। हमने उनके सामने प्रोफेशनल मुक्केबाज बनने के लिए इजाजत मांगी है और हमें उम्मीद है कि मुख्यमंत्री हमारी अपील पर ध्यान देंगे और हमें प्रो बनने की अनुमति मिल जाएगी। इसके बाद हम अपनी प्रो मुक्केबाजी की ट्रेनिंग भी शुरू कर सकेंगे। हमने अपनी बैठक में मुख्मंत्री से पेशेवर मुक्केबाजी के भविष्य पर भी चर्चा की।