Sports

रांची: मार्टिन गुप्टिल से मिली शानदार शुरुआत और टिम साउथी की अगुवाई में गेंदबाजों के उत्कृष्ट प्रदर्शन के अलावा भारत की विराट कोहली पर अत्याधिक निर्भरता की कमजोरी से न्यूजीलैंड ने बुधवार को यहां चौथा एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच 19 रन से जीतकर पांच मैचों की श्रृंखला 2-2 से बराबर की। इस दौरे में रन बनाने के लिये जूझ रहे मार्टिन गुप्टिल ने 84 गेंदों पर 12 चौकों की मदद से 72 रन बनाए और टाम लैथम (39) के साथ पहले विकेट के लिये 96 रन जोड़कर श्रृंखला में पहली बार टास जीतने वाले न्यूजीलैंड को अच्छी शुरुआत दिलाई।

कीवी ने दिया था 260 रन का टारगेट
कप्तान केन विलियमसन (41) और रोस टेलर (35) ने भी कुछ योगदान दिया लेकिन भारत ने आखिरी आेवरों में अच्छी वापसी करके कीवी टीम को सात विकेट पर 260 रन ही बनाने दिए। पिछले मैच के शतकवीर कोहली फिर से लय में दिखे लेकिन वह 45 रन ही बना पाये जिसके बाद न्यूजीलैंड ने भारतीयों पर दबाव बनाने में देर नहीं लगाई।

रहाणे ने लगाया अद्र्धशतक
अंजिक्य रहाणे ने 57 रन की पारी खेली जबकि अक्षर पटेल (38) और धवल कुलकर्णी नाबाद (25) ने अपने करियर का सर्वोच्च स्कोर बनाया लेकिन इससे हार का अंतर ही कम हुआ। भारतीय टीम आखिर में 48.4 आेवर में 241 रन पर ढेर हो गई। अब इन दोनों टीमों के बीच 29 अक्टूबर को विशाखापट्टनम में होने वाला मैच निर्णायक बन गया है। रोहित शर्मा की वनडे श्रृंखला में खराब फार्म जारी रही। उन्होंने अब तक चार मैचों में केवल 53 रन बनाये हैं।

241 रनों पर ऑल आउट हुई इंडिया
उन्होंने ट्रेंट बोल्ट (48 रन देकर दो विकेट) पर प्वाइंट पर विश्वसनीय शाट लगाया लेकिन अगले आेवर में साउथी (40 रन देकर तीन विकेट) की आउटस्विंगर उनके बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर बी जे वाटलिंग के दस्तानों में चली गई। रहाणे कुछ देर मूड में दिखे जबकि कोहली हमेशा की तरह सदाबहार अंदाज में खेल रहे थे। रहाणे ने मैच का पहला छक्का भी लगाया। उन्होंने बोल्ट की उठती गेंद को अपर कट से प्वाइंट के उपर से छह रन के लिये भेजा।

कोहली के आउट होने से स्टेडियम में पंसरा सन्नाटा
मिशेल सैंटनर पर छक्का जड़कर कोहली जल्द ही रहाणे से आगे निकल गए, लेकिन लेग स्पिनर ईश सोढ़ी की अतिरिक्त उछाल लेती गेंद उनके बल्ले को चूमकर विकेटकीपर के दस्तानों में चली गई। कोहली के आउट होने पर स्टेडियम में सन्नाटा पसर गया क्योंकि लोगों को कोहली से विराट उम्मीदें थीं जिस पर धोनी खरे नहीं उतर सके।

अपने ही घर नहीं चला धोनी का बल्ला
विराट के आउट होने के बाद स्थानीय खिलाड़ी कप्तान महेंद्र सिंह धोनी लगातार दूसरे मैच में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे। लेकिन रांची के दर्शकों को निराश होना पड़ा। धोनी ने पर्याप्त समय क्रीज पर बिताया। इस बीच 31 गेंदें भी खेली लेकिन एक बार भी उसे सीमा रेखा तक नहीं पहुंचा पाए और 11 रन बनाकर जेम्स नीशाम (38 रन देकर दो विकेट) की गेंद पर बोल्ड हो गये। धोनी के अपने घरेलू मैदान पर पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैच में आउट होने से भारत बैकफुट पर चला गया। रहाणे ने 70 गेंदें खेली तथा पांच चौके और एक छक्का लगाया।

आखिरी चरण में भारी नहे भारतीय खिलाड़ी
इससे पहले न्यूजीलैंड की पारी का पहला चरण यदि उसके बल्लेबाजों के नाम पर रहा तो आखिरी चरण में भारतीय गेंदबाजों ने दबदबा बनाया। न्यूजीलैंड का स्कोर 30 आेवर के बाद दो विकेट पर 161 रन था लेकिन आखिरी 20 आेवर में 99 रन बने जबकि अंतिम दस आेवरों में गेंद ने केवल तीन बार सीमा रेखा के दर्शन करे।