Sports

( सभी तस्वीरे अमृता मोकल और चेसबेस इंडिया के सौजन्य से ) 

पटना , बिहार ( निकलेश जैन ) खादी इंडिया नेशनल प्रीमियर शतरंज चैंपियनशिप 2017 में एक दिन के विश्राम के बाद आज जब मुक़ाबला शुरू हुआ तो  पहले से ही यह बात साफ थी की खेल मे आज ज्यादा आक्रामक रवैया देखने को मिलेगा और आज के परिणाम भी कुछ इसी तरह से सामने आए सात बोर्ड में से आज 4 मैच जीत हार के परिणाम लेकर आए जबकि 3 मुक़ाबले बराबरी पर छूटे । अब जबकि सिर्फ छह राउंड बाकी है देखना होगा कौन अंतिम दौर में बेहतर खेल दिखाता है । 

PunjabKesari

पहले बोर्ड पर आज मुक़ाबला था सम्मेद शेटे और ग्रांड मास्टर स्वप्निल धोपाड़े के बीच और जैसा की स्वप्निल नें पहले ही कहा था की विश्राम के बाद उनके लिए यह एक नया टूर्नामेंट होगा उन्होने ठीक वैसी ही शुरुआत भी की और सम्मेद के खिलाफ आज काले मोहरो से खेलते हुए कारो कान ओपनिंग में अपनी श्रेष्ठता आसानी से साबित की और एक आसान जीत दर्ज की , सम्मेद खेल की 11 वी चाल में ही एक साधारण से गलती कर बैठे और व्यर्थ ही प्यादा गवा बैठे उसके बाद उनकी जबाबी कार्यवाही नें उनके राजा की स्थिति को इतना कमजोर किया की स्वप्निल के लिए आज खेल कभी भी मुश्किल नजर नहीं आया और मात्र 27 चालों में उन्होने जीत दर्ज करते हुए अपनी वापसी की घोषणा कर दी है । 

PunjabKesari

दूसरे बोर्ड पर आज एक बहुत ही शानदार मुक़ाबला बराबरी पर छूटा लगतार तीन हार के बाद आज दीपन चक्रवर्ती नें सबसे आगे चल रहे अरविंद चितांबरम से बेहद ही रोमांचक मैच खेला । मोर्डन डिफेंस में हुए इस मुक़ाबले में दीपन आज सफ़ेद मोहरो से खेल रहे थे पर अरविंद नें आज लगतार तीन हार के बाद दीपन को चौंथी हार देने की भरपूर कोशिश की पर अंत में उन्हे मजबूरन बचाव का रास्ता अपनाकर ड्रॉ खेलने पर विवश होना पड़ा । खेल की 12वी चाल तक अरविंद नें अपना एक अतिरिक्त प्यादा देते हुए अपने ऊंट और हाथी के खुले रास्ते के प्रभाव से दीपन के राजा पर दबाव बना दिया था और ऐसे में दीपन बस मोहरो की अदला बदली की योजना तलाश रहे थे । 17 वी चाल में दीपन के घोड़े से अरविंद के ऊंट के खेल से बाहर जाते ही अरविंद का आक्रमण कमजोर पड़ने लगा मतलब साफ था एक अतिरिक्त प्यादा लिए दीपन को जीत की गंध आने लगी थी । पर वह इसके बाद ज्यादा बेहतर चाले नहीं चल सके और 20वी चाल में अपने राजा की गलत चाल नें अरविंद को उनके राजा के ओर के हिस्से में दबाव बनाने को मौका मिला गया पर 35 चाल आते आते स्थिति इतनी बदली की अरविंद नें अपने ऊंट को बलिदान करते हुए तीन प्यादे ले लिए और अंत मेंके खेल में अरविंद के पास चार प्यादे और हाथी था तो दीपन के पास एक ऊंट एक हाथी और दो प्यादे जल्द ही बोर्ड से दोनों के सभी प्यादे बाहर हो गए और अंत में दीपन नें जीत के लिए हरसंभव प्रयास किए पर मैच 103 चालों तक चलकर भी ड्रॉ पर खत्म हुआ । 

PunjabKesari

तीसरे बोर्ड पर सुनील नारायण और अभिजीत कुंटे के बीच सिसिलियन कान में हुआ मुक़ाबला 35 चालों में बराबरी पर समाप्त हुआ । 

PunjabKesari

चौंथे बोर्ड पर आज रोहित ललित बाबू नें लक्ष्मण की ओपनिंग में की गई गलतियों का फायदा उठाते हुए एक आसान जीत दर्ज  केटलन ओपनिंग में हुए इस मुक़ाबले में लक्ष्मण नें खेल की शुरुआत में ही वजीर के तरफ के प्यादो को लगातार चला जो बाद में उनके लिए एक कमजोरी साबित हुई और उनके कमजोर प्यादे ही रोहित के लिए 57 चाल में एक अच्छी जीत लेकर आए । अरविंद के हाथो हार के बाद ये जीत से रोहित अब पुनः सयुंक्त दूसरे स्थान पर पहुँच गए है । 

 

पांचवे बोर्ड पर फोर नाइट ओपनिंग में खेला गया एस नितिन और मुरली कार्तिकेयन के बीच मुक़ाबला मात्र 19 चालों में शांतिपूर्ण बराबरी पर समाप्त हुआ । 

PunjabKesari

छठे  बोर्ड पर  सिसिलियन ओपनिंग मे काले मोहरो से खेलते हुए अर्घ्यदीप दास नें श्याम निखिल पर जोरदार जीत दर्ज की खेल की दसवी चाल मे पहले तो निखिल की घोड़े की एक गलत चाल नें अर्घ्यदीप को उनके वजीर के तरफ के हिस्से में दबाव बनाने को मौका दिया फिर 15वी चाल में निखिल नें राजा की और से प्यादे से आक्रमण करने की भूल की और इस बार अर्घ्यदीप नें बोर्ड के केंद्र से जबाबी हमला कर दिया जिसके बाद निखिल बोर्ड के हर हिस्से में परेशानी से घिर गए । और उन पर समय का इतना दबाव पड़ा की मात्र 22 चालों में वह अपने समय के समाप्त हो जाने की वजह से मैच हार गए । 

PunjabKesari

सातवे बोर्ड पर एक और जीत का नजारा मिला जब खराब लय में चल रहे हिमांशु के लिए इस दौर की शुरुआत हार के साथ हुई वह आज देबाशीष दास के हाथो पर पराजित हो गए । सिसलियन ड्रेगन में हुए इस काफी उतार चढ़ाव से भरे मुक़ाबले में दोनों खिलाड़ी जीत को तलाशते नजर आए और एक समय खेल में बेहतर नजर आ रहे हिमांशु अंत समय में सही चाले नहीं ढूंढ सके और उन्हे एक और हार का सामना करना पड़ा । 

 

सात राउंड के बाद अरविंद 5 अंको के साथ पहले ,मुरली ,सुनील और रोहित 4.5 अंको के साथ सयुंक्त दूसरे ,जबकि अर्घ्यदीप दास 4 अंको के साथ तीसरे स्थान पर चल रहे है । नितिन ,लक्ष्मण ,देबाशीष ,स्वप्निल 3.5 अंक पर ,सम्मेद ,श्याम निखिल ,और दीपन 2.5 अंक पर तो आश्चर्यजनक तौर पर हिमांशु 2 अंक के साथ अंतिम पायदान पर चल रहे है ।  अभिजीत ,13 राउंड की इस प्रतियोगिता में अब 6 राउंड और खेले जाने बाकी है । 

 

अब सुने मैच का हाल भी !