Sports

दुबई: भारत के नरिंदर बत्रा अंतरराष्ट्रीय हाकी महासंघ के पहले गैर यूरोपीय अध्यक्ष बन गए जिन्हें आज एफआईएच की 45वीं कांग्रेस में बहुमत से शीर्ष पद के लिए चुन लिया गया।  हाकी इंडिया के अध्यक्ष बत्रा ने आयरलैंड के डेविड बालबर्नी और आस्ट्रेलिया के केन रीड को हराया। वह एफआईएच के 12वें अध्यक्ष बने और संस्था के 92 साल के इतिहास में इस पद पर पहुंचने वाले पहले एशियाई हैं।  

बत्रा को 68 वोट मिले जबकि बालबर्नी और रीड को क्रमश: 29 और 13 वोट मिले । कुल 118 मतदाताओं में से 110 ने वोट डाला जबकि आठ ने इसमें भाग नहीं लिया। मतदान गुप्त तरीके से इलेक्ट्रानिक मतदान प्रक्रिया के जरिए हुआ। हर राष्ट्रीय संघ के प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख को एक टेबलेट और एक यूनिक पासवर्ड दिया गया था।   एशियाई हाकी महासंघ के आधिकारिक उम्मीदवार बत्रा को एशियाई, अफ्रीकी और मध्य अमेरिकी देशों का पूरा समर्थन मिला। निवृतमान अध्यक्ष लिएंड्रो नेग्रे ने नतीजे का ऐलान किया।   

बत्रा का चार साल का कार्यकाल तुरंत शुरू होगा यानी उन्हें हाकी इंडिया के अध्यक्ष का पद छोडऩा होगा। वह किसी ओलंपिक खेल की अंतरराष्ट्रीय संस्थान के प्रमुख चुने जाने वाले पहले भारतीय हैं । बत्रा की जीत से अब हाकी मेें सत्ता का केंद्र यूरोप की बजाय एशिया हो जाएगा।  59 बरस के बत्रा अक्तूबर 2014 में हाकी इंडिया के अध्यक्ष बने थे । वह नेग्रे की जगह लेंगे जो 2008 से एफआईएच अध्यक्ष हैं।