Sports

मुंबई: आईसीसी विश्व कप में यादगार अभियान के बाद स्वदेश लौटने पर शानदार स्वागत से भावविभोर भारतीय कप्तान मिताली राज ने आज कहा कि यह महिला क्रिकेट के लिए अच्छे समय की केवल शुरूआत भर है। 

भारत को आईसीसी महिला विश्व कप फाइनल तक पहुंचाने वाली मिताली ने कहा कि इस तरह का स्वागत देखकर मैं भावविभोर हूं। पहली बार हमारा इस तरह से स्वागत किया गया। मैंने 2005 में भी एेसा देखा। तब हम अब बीसीसीआई के अंतर्गत नहीं आते थे। उन्होंने कहा कि मैं सोच रही थी अब हम बीसीसीआई के तहत आते हैं और हमारा स्वागत किस तरह से किया जाता है। लड़कियां इस तरह के स्वागत से वास्तव में खुश होंगी।यह महिला क्रिकेट के लिए अच्छे समय की शुरूआत भर है।

मिताली और उनकी साथियों का यहां छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। बड़ी संख्या में क्रिकेट प्रेमी हवाई अड्डे पर पहुंचे हुए थे। भारतीय टीम हर चार साल में होने वाले इस टूर्नामेंट के फाइनल तक पहुंची जहां वह रविवार को मेजबान इंग्लैंड से नौ रन के मामूली अंतर से हार ई। मिताली ने कहा कि उनकी टीम इस तरह के स्वागत की हकदार थी।  महिला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाली मिताली ने कहा कि वे इसकी हकदार थी। अब खेल का प्रसारण हो रहा है और हम बीसीसीआई के अंतर्गत आते हैं जिससे अंतर पैदा हुआ। मेरा शुरू से मानना था कि अगर मैचों का टेलीविजन पर प्रसारण होता है तो अधिक लोग इसकी तरफ आकर्षित होंगे।