Sports

दुबई: अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने वैस्टइंडीज के ऑलराउंडर मार्लोन सैमुअल्स को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी करने के लिए हरी झंडी दे दी है। सैमुअल्स पर अक्टूबर 2015 में श्रीलंका के खिलाफ गॉले टैस्ट के दौरान संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन का आरोप लगा था जिसके बाद दिसंबर 2015 में उन पर 12 महीने के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।   

आईसीसी ने कहा कि आईसीसी ने घोषणा की है कि मार्लोन सैमुअल्स के गेंदबाजी एक्शन में सुधार पाया गया है, जिसके बाद उनके गेंदबाजी एक्शन को वैध मान लिया गया है और अब वह फिर से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी कर सकते हैं। 29 जनवरी को सैमुअल्स ने लौघबोरौघ में नेशनल क्रिकेट परफॉरमेंस सेंटर में गेंदबाजी एक्शन का परीक्षण दिया था, जिसमें उनकी कोहनी 15 डिग्री से अधिक घूम रही है। 

हालांकि क्रिकेट की सर्वाेच्च संस्था ने साथ ही यह भी कहा कि अंपायर अब भी सैमुअल्स के खिलाफ रिपोर्ट कर सकते हैं अगर उन्हें लगता है कि वह संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के साथ गेंदबाजी कर रहे हैं। अगर सैमुअल्स की दोबारा रिपोर्ट की जाती है तो उन्हें आगे अपने गेंदबाजी एक्शन पर अधिक मेहनत करनी होगी।  

36 वर्षीय सैमुअल्स ने वैस्टइंडीज को दो बार ट्वंटी-20 विश्वकप जीताने में अहम योगदान दिया है। सैमुअल्स ने 2012 के ट्वंटी-20 विश्वकप के फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ 56 गेंदों में 78 रन की शानदार पारी खेली थी और वह मैन आफ द मैच रहे थे। इसके अलावा उन्होंने भारत की मेजाबानी में पिछले वर्ष हुए ट्वंटी-20 विश्वकप के फाइनल में इंगलैंड के खिलाफ 66 गेेंदों में 85 रन की नाबाद पारी खेली थी और वह मैन आफ द मैच रहे थे।