Sports

नई दिल्ली: देश के सबसे अनुभवी टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस और डेविस कप टीम के गैर खिलाड़ी कप्तान महेश भूपति के बीच उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है और पेस ने इस मामले में नया एस झोंकते हुए कहा है कि उन्हें यह कभी नहीं कहा गया था कि वह उज्बेकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में नहीं खेलेंगे।  

पेस ने इस विवाद में एक बयान जारी कर कहा कि मुझे कभी नहीं कहा गया था कि मैं नहीं खेलूंगा। लेकिन ऐसा लगता है कि मेरे बेंगलुरू पहुंचने से पहले ही टीम का फैसला कर लिया गया था। यह अनावश्यक और अपमानजनक है। 43 वर्षीय पेस को उज्बेकिस्तान के खिलाफ डेविस कप एशिया ओसनिया जोन ग्रुप एक के दूसरे दौर के मुकाबले में कप्तान भूपति ने टीम में शामिल नहीं किया था जिसे लेकर विवाद उठा और इस विवाद को पेस तथा भूपति के बीच पुराने मतभेदों से जोड़कर देखा जा रहा है। इस मुकाबले की टीम के लिए पेस और भूपति के बीच वाट्सएप्प पर जो बातचीत हुई थी वह मीडिया में लीक हो गई और इसे लेकर पेस ने गहरी नाराजगी जताई है।

पेस ने कहा कि चयन का मुख्य मापदंड केवल फार्म है और यह बात हमारे बीच हुई बातचीत में पूरी तरह स्पष्ट थी, लेकिन जब अंतिम चयन की बारी आई तो इस मापदंड को लागू नहीं किया गया। हमारे बीच एक निजी बातचीत थी जिसे सार्वजनिक कर दिया गया जो कि एक डेविस कप कप्तान के लिए शोभनीय नहीं है।