Sports

नई दिल्ली: हरियाणा की रहने वाली कविता देवी पहली बार डब्ल्यूडब्ल्यूई रिंग में फाइट करने के लिए उतरीं। सभी भारतीयों को उम्मीदें थी कि वह जीत हासिल कर अपना आगे का रास्ता आसान करेंगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। कविता का वीरवार को डब्ल्यूडब्ल्यूई के ‘में यग क्लासिक टूर्नामेंट’ में न्यूजीलैंड की रैसलर डकोटा काई के साथ मुकाबला हुआ जिसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

काई ने कविता को आसानी से दी पटखनी
कविता और काई का मैच ज्यादा वक्त तक नहीं चला। शुरू से ही काई ने अपनी ताकत का प्रदर्शन करते हुए कविता को पटखनी दे दी। हालांकि कविता ने मैच में वापसी करने की कोशिश की लेकिन, काई ने उन्हें एक बेस रनिंग किक लगाया और टॉप रोप से सोल स्टोम्प ऑफ लगाकर मुकाबले को अपने नाम कर लिया। कविता की यह पहली हार जरूर है लेकिन जर्नी अभी शुरू हुई है।

कविता पूर्व डब्ल्यूडब्ल्यूई चैंपियन द ग्रेट खली की शिष्या हैं और वह पहली भारतीय महिला रैसलर हैं जो डब्ल्यूडब्ल्यूई फाइट के लिए गई हैं। वह खली की अकादमी सीडब्ल्यूई से तैयार हुई हैं। कविता की यह पहली हार जरूर है लेकन जर्नी अभी शुरू हुई है। अभी कविता को इस टूर्नामेंट में कई दिग्गजों का सामना करना होगा। इस यंग क्लासिक टूर्नामेंट में भारत के अलावा अमेरिका, जापान, जर्मनी, मैक्सिको और चीन के रेसलर भाग ले रहे हैं।