Sports

नई दिल्ली:  भारत और पाकिस्तान की टीमें रविवार को लंदन के ओवल में आईसीसी चैंपियंस ट्राफी का खिताबी मुकाबला खेलेंगी और यदि आंकड़ों के लिहाज से देखा जाए तो 18 जून को भारत और पाकिस्तान का फाइनल होना ही था।  

भारत और पाकिस्तान ने गत 4 जून को टूर्नामेंट में अपना ओपनिंग मैच खेला था। भारत ने यह मैच 124 रन से जीता था। उस समय किसी को यह उम्मीद नहीं थी कि पाकिस्तान की टीम उलटफेर करते हुए फाइनल में पहुंच जाएगी लेकिन 18 जून की तारीख ऐसी रही कि पाकिस्तान फाइनल में पहुंच गया।  अंग्रेजी वर्णमाला के आधार पर गणना करने वाले क्रिकेट पंडित बेंगलुरू के श्रीकांत ने बताया कि 18 जून साल का 169 वां दिन है। इसमें से 16 और 9 को अलग अलग किया जाए तो अंग्रेजी वर्णमाला के आधार पर पाकिस्तान का‘पी’16 वें नंबर पर आता है जबकि इंडिया का‘आई’नौवें नंबर पर आता है और ये दोनों टीमें 18 जून को टूर्नामेंट का फाइनल खेल रही हैं।  

श्रीकांत ने भारतीय बल्लेबाजी की त्रिमूर्ति शिखर धवन, रोहित शर्मा और विराट कोहली का भी जिक्र करते हुए कहा कि जिस तरह पाकिस्तान में बालीवुड स्टार शाहरुख खान काफी लोकप्रिय हैं और उन्हें एसआरके के नाम से जाना जाता है उसी तरह एसआरके में शिखर, रोहित और कोहली अंग्रेजी वर्णमाला के हिसाब से आते हैं और ये तीनों भी खासे लोकप्रिय हैं।  

ग्रुप चरण की हार के बाद पाकिस्तान में ऐसी भी टिप्पणियां आई थीं कि पूरी टीम ले लो और विराट दे दो। यह भी दिलचस्प है कि पाकिस्तान ने पूरे टूर्नामैंट में मिलकर जितने रन बनाए हैं उतने रन तो अकेले इन 3 भारतीय बल्लेबाजों ने बना डाले हैं। पाकिस्तानी टीम ने अपने 4 मैचों में कुल 735 रन बनाए हैं जबकि 3 भारतीय बल्लेबाजों ने कुल 874 रन बना डाले हैं।  चैंपियंस ट्राफी के फाइनल पर आईपीएल की खुमारी भी नजर आती है। आईपीएल के 3 शब्दों आई, पी और एल को देखा जाए तो इंडिया,पाकिस्तान और लंदन बनते हैं।