Sports

मोहाली: युवा और अनुभवी खिलाड़ी जब मिल-जुलकर टीम के लिए जादू करते हैं तो यह कोच के लिए खुशी की बात होती है और अनिल कुंबले भी इससे शिकायत नहीं कर रहे हैं। फार्म में चल रहे रविचंद्रन अश्विन और युवा जयंत यादव ने जिस तरह से विशाखापत्तनम में दूसरे टैस्ट में मिली जीत के दौरान गेंदबाजी कर इंगलैंड के लाइन अप को चकनाचूर किया, कुंबले उनसे इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं कर सकते।  

अश्विन छठे नंबर पर बल्लेबाजी कर आलराउंडर की भूमिका निभा रहे हैं जिसमें वह नियमित अंतराल पर उपयोगी योगदान भी कर रहे हैं। उन पर पड़ने वाले भार की भी काफी बातें चल रही हैं क्योंकि उपमहाद्वीप के हालात में उनकी अपार सफलता से सभी वाकिफ हैं। लेकिन कुंबले ने जोर देते हुए कहा कि अश्विन इसकी शिकायत नहीं कर रहा है।   

उन्होंने कहा कि उसने (अश्विन) वैस्टइंडीज से लेकर अब तक शानदार काम किया है। जब रोहित शर्मा खेला था तो हम केवल 4 गेंदबाजों और 6 बल्लेबाजों के साथ खेले थे। अश्विन ने 7वें नंबर पर बल्लेबाजी की थी। हमें 20 विकेट हासिल करने के लिए 5वें गेंदबाज की जरूरत थी। इसलिए वह लगातार छठे नंबर पर बल्लेबाजी कर रहा है।  कुंबले ने कहा कि काम के बोझ की बात ऐसी है कि आप इस बारे में लगातार बात करते रहते हो लेकिन अगर अश्विन की बात करो तो वह निश्चित रूप से छठे नंबर पर बल्लेबाजी का लुत्फ उठा रहा है और बल्लेबाजी और गेंद के साथ वही कर रहा है जिसमें वह अच्छा है।