Sports

नई दिल्ली: एशिया कप में 13 साल के लंबे अंतराल के बाद खिताब जीतने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम का सोमवार रात स्वदेश लौटने पर भव्य स्वागत किया गया। एशिया कप विजेता भारतीय महिला हॉकी टीम जब कल रात स्वदेश लौटी तो उसके स्वागत के लिए इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सैकड़ों प्रशंसक मौजूद थे। खिलाड़ियों को फूल मालाओं से लाद दिया गया और प्रशंसकों ने खिलाडिय़ों को मिठाइयां खिलाई।   

विजेता ट्रॉफी के साथ लौटी भारतीय महिला खिलाड़ी इस स्वागत से अभिभूत हो गई। रानी की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने जापान के काकामिगाहारा में चीन को पेनल्टी शूट आउट में 5-4 से हराकर 13 साल बाद जाकर एशिया कप में खिताब जीता।   भारतीय कप्तान रानी, मुख्य कोच हरेंद्र सिंह और अन्य खिलाड़ी जैसे ही ट्रॉफी के साथ एयरपोर्ट से बाहर आये तो कैमरों के फ्लैश चमकने लगे और मीडियाकर्मियों में खिलाडिय़ों की बाईट लेने की होड़ मच गई। 

इस स्वागत से अभिभूत टूर्नामैंट की सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर सविता ने कहा कि मैं यहां अपनी पूरी टीम के जोरदार स्वागत से खुश और अभिभूत हूं। कप्तान रानी ने एशिया कप जीतने और विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने को गौरवपूर्ण पल बताते हुए कहा कि टीम ने योग्यता साबित कर विश्व कप का टिकट पाया। रानी ने कहा कि हमें खुशी है कि हमने एशिया कप जीत लिया है और योग्यता के आधार पर अगले वर्ष होने वाले विश्व कप का टिकट हासिल किया है। हमारी टीम में कई युवा खिलाड़ी हैं जिन्होंने ऐसे बड़े मंच पर जबरदस्त प्रदर्शन किया और खुद को साबित किया।