Sports

 

भारत सरकार के खेल एवं युवा मामलों के मंत्रालय एवं  अखिल भारतीय शतरंज महासंघ नें भारत के 39 सदस्यीय दल को विश्व के सबसे बड़े और कठिन ओपन ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट ऐरोफ्लोट ओपन में प्रतिभागिता के लिए अनुमति प्रदान कर दी है । प्रतियोगिता में भारत से कुल 18 पुरुष खिलाड़ी  ,17 महिला खिलाड़ी और 4 प्रशिक्षक भाग लेंगे । अखिल भारतीय शतरंज महासंघ ( एआईसीएफ़ ) से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस दौरे को पूरी तरह से भारत सरकार प्रायोजित करेगी । भारतीय शतरंज के इतिहास में यह पहला मौका है जब इतनी संख्या में शतरंज खिलाड़ियों को जाने का मौका मिला है । निश्चित तौर पर यह दौरा भारतीय प्रतिभाओं के लिए एक शानदार अवसर साबित होगा ।

भारतीय शतरंज टीम में कुल 18 पुरुष खिलाड़ी  जिसमें ग्रांड मास्टर विदित गुजराती से लेकर अधिबन भास्करन जैसे दिग्गज सितारे तो 17  महिला खिलाड़ियों में कई बार की राष्ट्रीय विजेता महिला ग्रांड मास्टर विजयालक्ष्मी ,पद्मिनी राऊत ,मेरी गोम्स जैसे दिग्गज शामिल है । रूस में भारत की सीनियर ,जूनियर और सब जूनियर टीम आगामी 19 फरबरी से 2 मार्च तक मास्को में विश्व के सबसे कड़े मुक़ाबले माने जाने वाले ऐरोफ़्लोट ओपन में हिस्सा लेगी ।

PunjabKesari

बड़ी बात यह है की भारत के विदित गुजराती ही प्रतियोगिता के टॉप सीड होंगे । 

 

​भारतीय टीम में इंटरनेशनल मास्टर लंका रवि , इंटरनेशनल मास्टर दिनेश शर्मा , फीडे इंस्ट्रक्टर निकलेश जैन और एस सुजाता को कोच के रूप में आधिकारिक जगह दी गई है । ज्ञात हो की निकलेश जैन पिछले करीब दो वर्षो से पंजाब केसरी के लिए शतरंज विशेषज्ञ के तौर पर लेख लिखते रहे है ।