Sports

कोलकाता: चाइनामैन स्पिनर कुलदीप यादव की हैट्रिक और कप्तान विराट कोहली की सुगढ़ पारी से भारत ने ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स पर आज यहां आस्ट्रेलिया को दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में 50 रन से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में 2-0 से बढ़त बनाई। कोहली केवल आठ रन से शतक से चूक गये। उन्होंने 107 गेंदों पर 92 रन बनाये जिसमें आठ चौके शामिल हैं। भारतीय कप्तान ने सलामी बल्लेबाज अंजिक्य रहाणे (55) के साथ दूसरे विकेट के लिये 102 रन की साझेदारी की। आस्ट्रेलिया ने अच्छी वापसी की और भारत की पूरी टीम को 50 ओवर में 252 रन पर आउट कर दिया। भारत ने अंतिम दस ओवरों में केवल 45 रन बनाये। आस्ट्रेलिया के लिये नाथन कूल्टर नाइल ने 51 रन देकर तीन विकेट और केन रिचर्डसन ने 55 रन देकर तीन विकेट लिए।

भारत का लक्ष्य 280 रन के आसपास पहुंचना था लेकिन ईडन की पिच पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं थी। आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिर से कलाई के दोनों स्पिनरों कुलदीप (54 रन देकर तीन) और युजवेंद्र चहल (34 रन देकर दो) के सामने संघर्ष करते हुए नजर आये। कप्तान स्टीव स्मिथ (59) और आलराउंडर मार्कस स्टोइनिस (नाबाद 62) ने अपनी तरफ से कुछ प्रयास किये लेकिन वह नाकाफी थे। आस्ट्रेलियाई टीम 43.1 ओवर में 202 रन पर आउट हो गयी।   भुवनेश्वर कुमार ने भी भारत की जीत में अहम भूमिका निभायी। उन्होंने 6.1 ओवर में नौ रन देकर तीन विकेट लिये जिसमें दोनों सलामी बल्लेबाज हिल्टन कार्टराइट (एक) और डेविड वार्नर (एक) के महत्वपूर्ण विकेट भी शामिल हैं। उन्हें ट्रेविस हेड (39) का विकेट भी मिल जाता लेकिन स्लिप में रोहित शर्मा ने हाथ में आया कैच छोड़ दिया।

उनके अलावा आलराउंडर हाॢदक पंड्या ने 56 रन देकर दो विकेट लिये। कोहली ने 14वें ओवर से दोनों छोर से कलाईयों के स्पिनर लगा दिए थे और इन दोनों ने फिर से खुद को साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। चहल ने फुलटास पर हेड को मिडविकेट पर कैच देने के लिये मजबूर किया। स्मिथ और हेड ने तीसरे विकेट के लिये 76 रन जोड़े। ग्लेन मैक्सवेल (14) ने आते ही कुलदीप पर दो छक्के जड़कर अपने इरादे जतलाये। चहल ने हालांकि अपनी खूबसूरत गेंद पर इस आक्रामक बल्लेबाज को महेंद्र सिंह धोनी के हाथों स्टंप आउट करा दिया। ऐसे समय में जबकि आस्ट्रेलिया को स्मिथ की पिच पर टिके रहने की सख्त जरूरत थी तब पंड्या ने आस्ट्रेलियाई कप्तान को उछाल लेती गेंद पर स्थानापन्न रविंद्र जडेजा के हाथों कैच कराकर भारत को महत्वपूर्ण सफलता दिलायी। स्मिथ ने 76 गेंदें खेली और आठ चौके लगाये।