Sports

नई दिल्ली: भारत-न्यूजीलैंड के बीच सीरीज का 5वां और आखिरी वनडे मैच शनिवार को यहां खेला जाएगा। दोनों टीमों के बीच फाइनल की तरह होने वाला यह मुकाबला रोमांचक होने की उम्मीद है। धोनी जहां होम सीरीज को जीतना चाहेंगे, वहीं कीवी टीम का टारगेट पहली बार इंडिया को उसी के घर में हराकर सीरीज जीतना होगा। रांची वनडे जीत कर न्यूजीलैंड टीम सीरीज में 2-2 की बराबरी पर आ गई है लिहाजा दोनों टीमें इस मैच को जीतने के लिए पूरा दम लगाएंगी। 
इस तरह मिलेगी भारत को जीत -

अच्छी ओपनिंग
रहाणे व रोहित अब तक अच्छी शुरूआत देने में नाकाम रहे हैं। सबसे बड़ी ओपनिंग पार्टनरशिप 49 रन की पहले वनडे में हुई। इसके बाद 21, 13 और 19 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप हुई।

धोनी-विराट पर डिपैंडेसी कम हो 
टीम इंडिया रन बनाने हों या टारगेट चेज करना हो सबसे ज्यादा विराट कोहली और एम.एस. धोनी पर निर्भर है। इससे मुक्त होना होगा। दोनों मिलकर अब तक 444 रन बना चुके हैं।

मिडल ऑर्डर को दिखाना होगा दम 
पांडे, जाधव और अक्षर पटेल पर मिडल ऑर्डर में रन बनाने की जिम्मेदारी है लेकिन अब तक वे फ्लॉप रहे, खासकर मनीष पांडे। वह 4 मैचों में सिर्फ  76 रन बना सके। वहीं जाधव ने 4 मैचों में 51 और पटेल ने इतने ही मैचों में 55 रन का योगदान दिया।
 

ऑलराऊंडर करें कमाल 
हार्दिक पांड्या ने पहले मैच में 3 विकेट लिए तो दूसरे वनडे में 36 रन बनाए। वहीं पटेल रांची वनडे में 38 रन बना सके। इन दोनों पर मिडल ऑर्डर को मजबूती देने और मिडिल ओवर्स में विकेट निकालने की सबसे बड़ी जिम्मदेरी। जैसे गुप्टिल ने दिल्ली वनडे में एक ओवर में ही 2 विकेट निकाल लिए थे।

करनी होगी किफायती बॉलिंग
इंडियन फास्ट बॉलर्स में यादव अब तक 7, बुमराह 5, पांड्या 4 और कुलकर्णी 1 विकेट ले चुके हैं लेकिन रांची वनडे में फास्ट बॉलर्स काफी महंगे साबित हुए। यादव व पांड्या ने 6 तो कुलकर्णी ने 8.4 की इकोनॉमी से रन लुटाए।