Sports

इंदौर: न्यूजीलैंड के खिलाफ यहां चल रहे तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में रविवार को शानदार 188 रनों की पारी खेलने वाले मध्यक्रम के बल्लेबाज अजिंक्या रहाणे ने कहा कि उन्होंने अपनी पारी के दौरान बल्लेबाजी का लुफ्त उठाया। रहाणे ने इसी के साथ ही टेस्ट मैचों में अपना उच्चतम स्कोर भी बना लिया। 

रहाणे ने दूसरे दिन के खेल की समाप्ति पर संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मैंने बल्लेबाजी का पूरा लुफ्त उठाया। कल मुझे बल्लेबाजी करने में थोड़ा परेशानी का सामना करना पड़ रहा था लेकिन आज मैं सहज था। कप्तान विराट जैसा बल्लेबाज यदि दूसरे छोर पर हो तो आप पर से दबाव हटता है। हम दोनों के बीच लगातार बातचीत चल रही थी और यही बात अंतत: अहम रही। उन्होंने कहा कल भी मैं योजना बना कर बल्लेबाजी करने उतरा था लेकिन कल मैं कुछ संघर्ष कर रहा था। 

मुझे खुशी है कि मैं यहा टिककर बल्लेबाजी कर सका और अपना सर्वश्रेष्ठ टेस्ट स्कोर बना पाया। मैं दबाव मुक्त होकर खेलना चाहता था और यही मैंने किया। मैं 150 के बाद जल्द ही 180 और फिर अपना पहला दोहरा शतक जडऩा चाहता था। रहाणे ने कहा कि मैं भले ही दोहरा शतक न पूरा कर पाया हूं लेकिन मैं अपनी इस पारी से संतुष्ट हूं। मेरे और कप्तान विराट के बीच हुई साझेदारी बेहद महत्वपूर्ण रही और इस दौरान मुझे विराट से बहुत कुछ सीखने को मिला। विराट ने वाकई एक खिलाड़ी और कप्तान के रूप में खुद को बहुत निखारा है।