Sports

नई दिल्ली: रोलैंट ओल्टमैंस की जगह लेने के प्रबल दावेदार माने जा रहे विश्व कप विजेता जूनियर हॉकी टीम के कोच हरेंद्र सिंह ने सीनियर पुरुष टीम के कोच के लिए आवेदन करने की तैयारी कर ली है और उनका मानना है कि इस भूमिका के लिए वह सर्वश्रेष्ठ विकल्प हैं। वर्ष 2009 से 2011 तक राष्ट्रीय सीनियर पुरुष टीम के कोच रहे हरेंद्र का मानना है कि उनकी उपलब्धियां विदेशी कोचों के बराबर हैं और हॉकी इंडिया के लिए उनके आवेदन की अनदेखी करना मुश्किल होगा। हरेंद्र ने कहा, ‘‘हां, मैं निश्चित तौर पर आवदेन करूंगा। लेकिन मैं पूरी तैयारी के बाद अपना आवेदन सौंपूंगा।

मैं जिम्मेदारी संभालने का इच्छुक हूं और मैं दावा करता हूं कि देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरूंगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरे पास कोङ्क्षचग का 21 साल का अनुभव है और मैं 2020 के लिए खाका तैयार करूंगा। मेरा लक्ष्य हमेशा किसी भी टूर्नामेंट में पदक जीतना होता है क्योंकि मैं देशभक्त हूं और हमेशा तिरंगे को सबसे ऊंचा देखना चाहता हूं।’’ हरेंद्र ने कहा, ‘‘विदेशी कोच को शून्य से शुरुआत करनी होगी। उसे सभी खिलाडिय़ों की जानकारी नहीं होगी। लेकिन मैं खिलाडिय़ों के इस समूह को काफी अच्छी तरह जानता हूं।’’  यह पूछने पर कि वह इस पद को हासिल करने को लेकर कितने आश्वस्त हैं, हरेंद्र ने कहा, ‘‘वे (हाकी इंडिया) अब मेरी अनदेखी नहीं कर सकते।

मुझे लगता है कि मैं शत प्रतिशत दुनिया के शीर्ष विदेशी कोचों की लीग में शामिल हूं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि रिक चाल्र्सवर्थ के अलावा मैं किसी विदेशी कोच के अंतर्गत काम नहीं करूंगा।’’  हरेंद्र की संभावनाएं काफी अच्छी हैं क्योंकि हाकी इंडिया के हाई परफोर्मेंस निदेशक डेविड जान ने संकेत दिया है कि यह जूनियर विश्व कप विजेता कोच अगर आवेदन करता है तो वह प्रबल दावेदार होगा।