Sports

राजकोट: आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई ने टी 20में दो टीमों के लिए 34 मैचों में डग आउट में बैठने के बाद जब पहली बार इस टी20 टूर्नामेंट में मैदान पर कदम रखा तो पहले मैच में ही हैट्रिक सहित 5 विकेट लिए और इससे बेहतर पदार्पण की उम्मीद उन्होंने की भी नहीं थी।  

टाई गुजरात लायन्स से जुडऩे से पहले चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम में थे लेकिन उन्हें पिछले दो सत्र में खेलने का मौका नहीं मिला। पुणे सुपरजाइंट के खिलाफ गुजरात ने उन्हें अंतिम एकादश में रखा और उन्होंने पहले मैच में ही 17 रन देकर 5 विकेट लिए जिसमें हैट्रिक भी शामिल है।  

टाई ने मैच के बाद कहा कि मैंने टी 20 में पदार्पण करने के लिये 34 मैचों का इंतजार किया लेकिन मैं किसी तरह के दबाव में नहीं था। मैंने कुछ विकेट लिए और मेरे लिए इससे बेहतर पदार्पण नहीं हो सकता था। बाहर बैठे रहना परेशान करने वाला हो सकता है लेकिन टाई को कोई शिकायत नहीं है क्योंकि उनका मानना है कि इससे उन्हें बेहतर गेंदबाज बनने में ही मदद मिली।  

उन्होंने कहा कि टी 20 में बेहतरीन कोचों के साथ खुद को बेहतर बनाने का शानदार मंच है। अंतिम एकादश में जगह नहीं मिलने के बावजूद मुझे पता था कि एक बार प्रक्रिया पूरी होने के बाद मुझे मौका मिलेगा और जब मुझे मौका मिला तो मैं किसी तरह के दबाव में नहीं था।