Sports

मैड्रिड: पूर्व विश्व नंबर एक एवं 14 बार के ग्रैंड स्लेम विजेता स्पेन के राफेल नडाल ने कहा है कि उनका पूरा लक्ष्य चोट से उबरकर पूरी तरह फिट होना है और इसी के चलते वह इस वर्ष के शेष सत्र में कोर्ट से दूर रहेंगे।

30 वर्षीय नडाल पिछले कुछ समय से कलाई की चोट से जूझ रहे हैं और इसी के कारण उन्होंने फ्रेंच ओपन में तीसरे राउंड से पहले हटने का निर्णय लिया था। इसके अलावा रियो ओलंपिक में भी उनका प्रदर्शन चोट से प्रभावित दिखा। नडाल ने कहा कि यह किसी से छिपा नहीं है कि मैं रियो में कम तैयारी के साथ उतरा था और चोट से पूरी तरह नहीं उबर पाया था लेकिन मैं अपने देश के लिए खेलने तथा पदक जीतने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध था। मुझे तब भी दर्द था और अभी भी है। मैंने इस वर्ष के शेष सत्र में न खेलने का निर्णय लिया है ताकि अगले वर्ष पूरी तरह फिट होकर खेलने के लिए उतर सकूं। विश्व में छठी रैंकिंग के नडाल को चोट का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।

उन्हें पिछले सप्ताह शंघाई मास्टर्स में दूसरे राउंड में विक्टर ट्रोएकी से हार का सामना करना पड़ा था। नडाल को अगले सप्ताह बेसल में तथा उसके बाद पेरिस मास्टर्स में खेलना था लेकिन अब वह इन टूर्नामैंटों में शिरकत नहीं करेंगे। नडाल ने कहा कि वह इस सत्र में न खेलने से बेहद आहत हैं। नडाल ने इस वर्ष मोंटे कार्लो मास्टर्स तथा बार्सिलोना ओपन का खिताब जीता है जबकि इस वर्ष उनका जीत का रिकार्ड 39-14 का रहा। वह आस्ट्रेलियन ओपन तथा फ्रेंच ओपन में शुरुआती राउंडो में ही बाहर हो गए। उन्होंने रियो में युगल में स्वर्ण पदक जरूर जीता लेकिन एकल मुकाबलों में वह पदक से चूक गए थे।