Sports

नई दिल्ली: पाकिस्तान के हरफनमौला क्रिकेटर शाहिद आफरीदी की आत्मकथा शाहिद आफरीदी एक आत्मकथा अगले साल रिलीज होगी जिसमें वह अपने दोस्तों और प्रतिद्वंद्वियों के बारे में खुलासा करेंगे। 

क्रिकेट प्रशंसकों के बीच बूूम बूम के नाम से प्रसिद्ध आफरीदी अपनी आत्मकथा में इसके ऊपर से भी पर्दा उठाएंगे कि वह अपने दोस्तों और प्रतिद्वंद्वियों के अलावा भारतीय खिलाडिय़ों के साथ अपने रिश्तों के अलावा सेना के प्रति उनका लगाव और राजनीति के बारे में क्या सोचते हैं। पत्रकार वजाहत एस खान के साथ मिलकर लिखी आत्मकथा में आधुनिक क्रिकेट के सबसे विवादास्पद खिलाड़ी आफरीदी की दास्तां हैं जिसने 1996 में 16 साल की उम्र में 37 गेंद में शतक ठोककर विश्व रिकॉर्ड कायम कर दिया था। 

हार्पर कोलिंस इंडिया पब्लिशर्स ने इस आत्मकथा के विश्व अधिकार हासिल किए हैं और यह 2017 में रिलीज होगी। टीम में लाला के नाम से प्रसिद्ध आफरीदी ने अपनी आत्मकथा के बारे में कहा, अपनी आत्मकथा में मैंने दोस्तों और प्रतिद्वंद्वियों के बारे में अपने विचार व्यक्त किये हैं, खासकर भारत के साथ। भारतीय खिलाडिय़ों के साथ अपने रिश्तों के अलावा सेना के प्रति मेरा क्या लगाव है और राजनीति के बारे में मैं क्या सोचता हूं। हार्पर कोलिंस इंडिया पब्लिशर्स का शुक्रिया जिन्होंने मुझे अपने विचार व्यक्त करने का मंच प्रदान किया।