Sports

सिंगापुर: भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम के कोच स्टीफन कोंस्टेनटाइन ने अंडर-23 टीम के सिंगापुर के खिलाफ बुधवार को होने वाले दूसरे अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच के पहले कहा कि ढिलायी बरतने की कोई जगह नहीं है और टीम को जीत के लिये अपना शत-प्रतिशत देना होगा। कोच ने कहा कि हम किसी भी सूरत में हार नहीं बर्दाश्त कर सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि भारत ने नौ जुलाई को हुए पहले अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच में प्रभावी प्रदर्शन किया था और 1-0 से जीत हासिल की थी। इस मैच में जरमनप्रीत सिंह ने मैच का एकमात्र गोल 80 वें मिनट में किया था। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने दोहा में होने वाले एएफसी अंडर-23 क्वालिफायर्स की तैयारी को मजबूत करने के लिये सिंगापुर के खिलाफ दो अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैचों का आयोजन किया है। यह टूर्नामेंट 19 जुलाई से शुरू हो रहा है जहां भारत को ग्रुप सी में मेजबान कतर ,सीरिया और तुर्कमेनिस्तान के साथ रखा गया है।  

कोच ने कहा कि मैं उम्मीद कर रहा हूं कि टीम अपने प्रदर्शन में और सुधार करेगी जबकि सिंगापुर भी अपने खेल में सुधार के लिये प्रतिबद्ध होगा। हमने पहले मैच में कई आसान मौके गंवाए थे लेकिन इस मुकाबले में हम किसी भी तरह की ढिलाई नहीं बरत सकते हैं। राष्ट्रीय कोच ने कहा कि सिंगापुर की टीम में कई बेहतरीन खिलाड़ी हैं जो शानदार लय में हैं। हमें उन्हें हराने के लिये स्तरीय प्रदर्शन करना होगा। उल्लेखनीय है कि कोंस्टेनटाइन के कुशल मार्गदर्शन में टीमें खासकर सीनियर टीम बेहतरीन प्रदर्शन कर रही हैं।