Sports

मनामा:  अंतरराष्ट्रीय फुटबाल महासंघ (फीफा) के अध्यक्ष जियानी इन्फैन्टिनो ने नस्लभेदी टिप्पणी करने वालों को बेवकूफ करार देते हुए कहा है कि वह नस्लभेदी टिप्पणी का शिकार हुए इतालवी फुटबाल क्लब पेसकारा के मिडफील्डर सुलेमान अली उर्फ सुले मुंतारी से जल्द मुलाकात करेंगे।  

घाना के मुंतारी इतालवी फुटबाल क्लब पेसकारा की ओर से खेलते हैं और हाल में कैगलियारी में मैच के दौरान जब उन पर नस्लभेदी टिप्पणी हुई तो शिकायत करने पर उन्हें ही प्रतिबंधित कर दिया गया था। हालांकि बाद में इस निलंबन को हटा लिया गया था।  32 वर्षीय मुंतारी इस मैच के आखिरी मिनट में मैदान से विरोध स्वरूप चले गए थे। इन्फैन्टिनो ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह भी मुंतारी के साथ चलना चाहते हैं ताकि फीफा की ओर से उनके प्रति संवेदनाएं व्यक्त कर सकें। उन्होंने साथ ही कहा कि इटली के फुटबाल क्लब अध्यक्ष कार्लाे तावेचियो से भी इस मसले पर बात करेंगे।   

फीफा कांग्रेस के लिए बहरीन में मौजूद इन्फैन्टिनो ने कहा कि मैं तावेचियो से बात करूंगा और साथ ही मुंतारी से भी बात करूंगा। हम मिलकर काम करेंगे। हमारी लड़ाई जारी रहेगी। जब ऐसी चीजें हों तो हमें उसे सामने लाना चाहिये। हमें लोगों के साथ मिलकर काम करना होगा। फीफा अध्यक्ष ने साथ ही कहा कि यूरोप के स्टेडियम में यूईएफए द्वारा लगाए गए नियम को अब लागू करने का समय आ गया है जिसमें संभवत: ऐसी स्थिति में मैच को ही रोका जा सकता है। 

इन्फैन्टिनो ने कहा कि दुर्भाग्य से इस तरह के बेवकूफ हमेशा हर जगह ही मिल जाएंगे लेकिन हमें मिलकर उनके खिलाफ लडऩा होगा। मुंतारी के साथ 30 अप्रैल को मैच में हुई घटना में भीड़ में बच्चों के एक समूह ने घाना फुटबालर के खिलाफ नस्लभेदी टिप्पणियां की थीं। हालांकि मैच के 90वें मिनट में मुंतारी को ही रेफरी ने येलो कार्ड दिखा दिया था।