Sports

नई दिल्लीः कहते हैं कि इंसान चाहे अपनी मंजिलों को हासिल कर कितना भी ऊंचा उठ जाए, लेकिन जहां से उसके जीवन की शरुआत हुई हो उसको नजअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। इसी बात पर अमल किया श्रीलंका टीम के पूर्व महान स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन के पिता सिन्नासामी ने। मुरलीधरन अब करोड़ों में है लेकिन उनके पिता आज भी बिस्केट बेचकर जिंदगी जी रहे हैं। 
PunjabKesari
सिन्नासामी एक छोटी सी फैक्ट्री चलाते है, जिसमें उन्होंने कुछ लोगों को काम पर रखा है। यह श्रीलंका की तीसरी सबसे बड़ी बिस्किट कंपनी है जिसमें 200 कर्मचारी काम करते है। बिस्केट की मार्केटिंग के लिए बेटे मुरलीधरन के नाम का इस्तेमाल नहीं करते हैं। वे ऐसा करके बिजनेस को दोगुना कर सकते हैं लेकिन वे ऐसा नहीं कर सकते।
PunjabKesari
सिन्नासामी का कहना है कि मुरलीधरन के पास श्रीलंका के एक बड़े ब्रांड के बिस्किट के एंडोर्समेंट हैं और वे नहीं चाहते कि मुरलीधरन को इनसे होने वाली कमाई बंद हो जाए। वह अपने बेटे के द्वारा अपनी कंपंनी की प्रमोशन करवाकर दोगुना पैसा कमा सकते हैं, लेकिन वह ऐसा नहीं करना चाहते।