Sports

तौरंगाः भारतीय पुरूष हॉकी टीम जापान के खिलाफ एकतरफा जीत के एक दिन बाद ही पटरी से उतर गई और गुरूवार को उसे बेल्जियम के हाथों यहां चार देशों के इन्विटेशनल हॉकी टूर्नामेंट में 0-2 से शिकस्त झेलनी पड़ गई। जापान को एक दिन पहले 6-0 से हराने वाली भारतीय टीम बेल्जियम के खिलाफ ब्लेक पार्क में हुए मैच में हाथ आए चार में से एक भी पेनल्टी कार्नर को भुना नहीं सकी। 

रमनदीप ने गंवाया बराबरी के गोल का मौका 
बेल्जियम के लिए सेबेस्टियन डोकियर ने आठवें ही मिनट में पहला गोल कर टीम को 1-0 से बढ़त दिला दी जबकि विक्टर वेगनेका ने 34 वें मिनट में टीम के लिए दूसरा गोल किया। दोनों टीमों ने हालांकि पहले क्वार्टर में बराबरी का खेल दिखाया लेकिन बेल्जियम भारतीय रक्षापंक्ति को भेदने में अधिक कामयाब रही और पेनल्टी के मौके भी बनाए। चोट के बाद वापसी कर रहे पी आर श्रीजेश ने शुरूआती मिनटों में बेल्जियम के प्रयासों को विफल किया। लेकिन आठवें मिनट में डोकियर ने रिवर्स हिट से गेंद को पोस्ट में पहुंचा बढ़त दिला दी। मैच के 12वें मिनट में फारवर्ड रमनदीप सिंह पेनल्टी कार्नर बेकार कर बराबरी के गोल का मौका गंवा बैठे।  

दूसरे क्वार्टर के सात मिनट बाद अरमान, पिछले मैच के स्कोरर विवेक प्रसाद, मनदीप ने बेल्जियम डिफेंडरों को काफी छकाया और उनकी गलतियों से भारत को फिर पेनल्टी कार्नर मिला। लेकिन इस बार हरमनप्रीत सिंह के ड्रैग फ्लिक को बेल्जियम ने विफल कर दिया। तुरंत बाद रमनदीप सिंह को भी पेनल्टी कार्नर पर गोल का मौका मिला जो बेकार हुआ। तीसरे क्वार्टर में भारत को तीसरा पेनल्टी कार्नर मिला जिसे वरूण कुमार भुना नहीं सके जबकि वेगनेज ने 34वें मिनट में बेल्जियम के लिए दूसरा गोल कर भारतीय उम्मीदों पर पानी फेर दिया। मैच में हालांकि विवेक ने प्रभावित किया लेकिन अंत तक भारत के प्रयास बेकार रहे और चौथा पेनल्टी कार्नर भी वह भुना नहीं सकी। भारत अब शनिवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने तीसरे मैच के लिए उतरेगा।