Sports

ताशकंद: एशियन यूथ का अंतिम पड़ाव भी भारत की श्रेष्ठता स्थापित करने वाला साबित हुआ। शतरंज के इस फटाफट फॉर्मेट में भारत नें सबसे ज्यादा पांच पदक झटकते हुए ना सिर्फ पहला स्थान हासिल किया बल्कि एशियन यूथ में तीनों फॉर्मेट रैपिड, क्लासिकल और ब्लिट्ज को मिलाकर भारत नें कुल 11 स्वर्ण 8 रजत और 7 कांस्य पदक समेत कुल 26 पदक झटके। मेजबान उज्बेकिस्तान नें पदक तो 29 जीते पर स्वर्ण पदक की संख्या 8 रहने से भारत पहले स्थान पर रहा। ईरान 7 स्वर्ण समेत कुल 12 पदक जीत तीसरे स्थान पर रहा। भारत को तीनों फॉर्मेट का सयुंक्त एशियन विजेता होने की ट्रॉफी प्रदान की गई।

खैर बात करे ब्लिटज की तो रैपिड में सोना और क्लासिकल में चांदी दिलाने वाले अंडर 8 बालक वर्ग के इलमपारथी नें एक बार फिर सोने पर कब्जा जमाया। भारत की मिले अन्य चार स्वर्ण पदक बालिकाओं नें दिलाये। अंडर 10 बालिका वर्ग में वार्षिनी साहिथी, अंडर 12 बालिका वर्ग में दिव्या देशमुख, अंडर 14 में जीशिथा डी, अंडर 18 आयु वर्ग में आकांक्षा हागवन नें भारत को स्वर्णपदक जीत कर दिया। साई विश्वास नें अंडर 18 बालक वर्ग में रजत पदक जीता वही देव शाह,अनन्या सुरेश और ज्योत्सना एल नें कांस्य पदक जीते।