Sports

गाले: भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन श्रीलंका के खिलाफ गाले में बुधवार को शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच का हिस्सा बनते ही अपने टेस्टों का अर्धशतक लगाने की उपलब्धि हासिल कर लेंगे। उनका मानना है कि इस सफर ने उन्हें पहले से कहीं बेहतर और अनुभवी क्रिकेटर बना दिया है। 30 वर्षीय अश्विन ने अब तक 49 टेस्ट मैच खेले हैं और गाले में श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज का पहला मैच उनका 50वां टेस्ट मैच भी होगा।

ऑफ स्पिनर ने इन मैचों में अब तक 25.22 के औसत से 275 विकेट निकाले हैं तथा 32.25 के औसत से 1903 रन बनाए हैं। अपने 50वें टेस्ट को लेकर उत्साहित दिख रहे अश्विन ने अपने टेस्ट सफर को लेकर कहा कि यह मेरा 50वां टेस्ट मैच होगा और पहले से लेकर 50वें मैच तक का सफर अच्छा रहा है जिसने मुझे ज्यादा परिपक्व और अनुभवी क्रिकेटर बनाया है। मुझे नहीं पता कि आने वाले समय में मैं और कितने टेस्ट खेल सकूंगा। लेकिन जितने भी मैच मैंने अभी तक खेले हैं उससे मैं एक बेहतर क्रिकेटर बन गया हूं।

वर्ष 2015 के श्रीलंका दौरे और मौजूदा दौरे को लेकर अश्विन ने कहा कि उस समय महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली के बीच कप्तानी को लेकर अदला बदली से टीम की स्थिति ‘सैंडविच’ जैसी हो गई थी लेकिन अब इसमें बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि हमने पिछले कुछ वर्षों में बहुत ही अच्छा क्रिकेट खेला है और कई युवा खिलाड़ी भी टीम से जुड़े हैं। हमने कई टेस्ट जीते हैं और अब हम कहीं बेहतर टीम बने हैं।