Cricket

लाहौर: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने चिर प्रतिद्वंद्वी भारत के साथ सीरीज आयोजित करने के लिए नए सिरे से प्रयास करने का फैसला किया है। पीसीबी के अध्यक्ष नजम सेठी ने मंगलवार से दुबई में शुरु हो रही अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद  (आईसीसी) की बैठक में हिस्सा लेने के लिए रवाना होने से पहले कहा ‘मेरा पहला काम भारत के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट रिश्तों को बहाल करना है। जब तक हम भारत के साथ नहीं खेलेंगे, हमें पैसे नहीं मिलेंगे।’

उन्होंने कहा ‘अगर हमारे पास पैसे नहीं होंगे तो हमारा घरेलू क्रिकेट भी चरमरा जाएगा। विश्व क्रिकेट में आज हर कोई भारत के कहे मुताबिक चल रहा है क्योंकि भारत के साथ खेलकर आप पैसा बना सकते हो। साल 2020 तक भारत को छोड़कर बाकी सभी देशों के साथ सीरीज खेलने को लेकर समझौता हो चुका है। हमें भारत के साथ खेलना होगा क्योंकि इससे जो कमाई होगी उससे हम अपना काम चला सकेंगे।’

सेठी ने कहा ‘तीन दिन तक चलने वाली आईसीसी की बैठक में इस विश्व संस्था के प्रस्तावित प्रशासनिक मॉडल पर चर्चा होगी। आईसीसी में पीसीबी अलग-थलग पडा है और बाकी सभी बोर्ड एक साथ हैं। इसलिए हमारे वोट की कोई अहमियत नहीं है। हमें देखना होगा कि हम बिग थ्री के साथ कैसे आगे बढ सकते हैं।’ आईसीसी में आमूलचूल परिवर्तन लाने की भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) की योजना को पीसीबी को छोडकर बाकी अन्य बोर्डों ने अपनी सहमति दे दी है।

सिंगापुर में जब इस मुद्दे पर वोटिंग हुई थी तो पीसीबी और श्रीलंकाई बोर्ड ने उसमें हिस्सा नहीं लिया था लेकिन श्रीलंकाई बोर्ड ने अब इस पर सहमति जता दी है।