Sports

मीरपुर: ‘रन मशीन’ विराट कोहली को रविवार को समाप्त हुए आई.सी.सी. विश्व टी20 चैम्पियनशिप में टूर्नामैंट का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया। वह इस टी20 टूर्नामैंट में ‘मैन ऑफ द सीरीज’ बनने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर हैं। यदि एकदिवसीय विश्व कप की उपलब्धियों को भी शामिल किया जाए तो सचिन तेंदुलकर और युवराज सिंह के बाद कोहली टूर्नामैंट में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार पाने वाले तीसरे भारतीय बन गए हैं।

कोहली ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और विशेषज्ञों के ग्रुप ने उन्हें ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना। आईसीसी टी20 के इतिहास में यह कुल 5 टूर्नामैंट में चौथा अवसर है जबकि खिताब जीतने वाली टीम के खिलाड़ी को मैन ऑफ द टूर्नामैंट नहीं चुना गया। भारत 2007 में चैम्पियन बना लेकिन तब उपविजेता पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी को यह पुरस्कार मिला। इसके बाद 2009 में श्रीलंका (उपविजेता) के तिलकरत्ने दिलशान और 2012 में ऑस्ट्रेलिया के शेन वाटसन को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया जबकि उनकी टीम सेमीफाइनल में हार गई थी। केवल 2010 में विजेता इंग्लैंड के केविन पीटरसन यह पुरस्कार हासिल करने में सफल रहे थे।