Sports

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर भी आईपीएल में भ्रष्टाचार की जांच को लेकर उच्चतम न्यायालय में चल रही कार्यवाही की आंच आती दिख रही है।

आईपीएल छह में भ्रष्टाचार मामले को लेकर गुरूवार को उच्चतम न्यायालय ने सुनवाई करते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को कुछ सुझाव दिए। यह सुनवाई बिहार क्रिकेट संघ के सचिव आदित्य वर्मा की याचिका पर की गई थी।

वर्मा ने यहां पत्रकारों को बताया कि उनके वकील हरीश साल्वे ने अदालत में अपनी दलीलें पेश करते हुए चेन्नई सुपर किंग्स के लिए कप्तानी करने वाले धोनी पर जांच समिति के सामने गलत बयान देने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, ‘‘इस मामले की जांच कर रही न्यायाधीश मुकुल मुद्गल समिति के सामने धोनी ने गलत बयान देते हुए कहा था कि गुरूनाथ मेयप्पन चेन्नई की टीम के अधिकारी नहीं बल्कि एक खेल प्रशंसक की तरह थे।’’