Sports

मीरपुर: अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कौंसिल (आईसीसी) ने बांग्लादेश में जारी टी20 विशव कप दौरान क्रिकेट प्रेमियों के लिए एक अलग चीज़ पेश की है। आईसीसी ने पहली बार किसी अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में हाई-टेक स्टम्पस का प्रयोग किया है, जो थोड़ी सी हरकत होने पर जग जाती हैं और लाल रंग की रौशनी पैदा करती हैं।

एल.ई.डी विकटें और गिल्लियों की पहली बार प्रयोग 2012 में ऑस्ट्रेलिया में बिग बैश लीग दौरान हुई थी और तब यह प्रत्येक क्रिकेट प्रेमियों के लिए आकर्षण का केंद्र बने थे। अब आईसीसी ने इस में रूचि दिखाई है। इस हाई-टेक स्टम्पस को 'ज़िंग विकट' कहा जाता है, जिस को साउथ ऑस्ट्रेलियन की फर्म ज़िंग इंटरनैशनल ने तैयार की है।

इस हाई-टेक स्टम्पस की कीमत 40,000 अमरीकी डॉलर है और एक गिल्ली की कीमत आईफोन जितनी है। यह स्टम्पस लकड़ी की नहीं बल्कि मिश्रित प्लास्टिक की बनीं है और गिल्लियों में सैंसर लगा हुआ है जो मामूली सी हरकत महसूस होने पर एक सेकेंड के हज़ारवे हिस्से से भी पहले सिग्नल भेज देता है और लाईट जग जाती हैं।

यह स्टम्पस इतने महंगे होने के कारण अब कोई खिलाड़ी इस को उखाड़ कर जश्न भी नहीं मना सकेगा जैसे पहले उखाड़ कर चल पड़ते थे।