Sports

ढाका : पाकिस्तान के खिलाफ हाई वोल्टेज ओपनिंग मुकाबले में जीत हासिल कर आत्मविश्वास से लबरेज भारतीय क्रिकेट टीम रविवार को यहां गत चैम्पियन वैस्टइंडीज (कैरेबियाई) के ‘तूफान’ को रोकने के लिए उतरेगी और उसका लक्ष्य विजयी अभियान को जारी रखना होगा। भारतीय टीम ग्रुप-बी में है जिसमें आस्ट्रेलिया, वैस्टइंडीज, पाकिस्तान और बंगलादेश जैसी बेहतरीन टीमें हैं। ऐसे में जरूरी है कि टीम इंडिया अपनी जीत की लय को बरकरार रखकर ग्रुप की शीर्ष टीमों में शुमार हो सके। चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को शुक्रवार को ओपङ्क्षनग मैच में 7 विकेट से पराजित कर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की टीम इस समय मनोवैज्ञानिक रूप से काफी मजबूत दिखाई दे रही है लेकिन टीम इस बात को नजरअंदाज नहीं कर सकती है कि उसका मुकाबला गत चैम्पियन वैस्टइंडीज जैसी बेहतरीन टीम से है।

भारत का जहां यह ग्रुप का दूसरा मैच है तो कैरेबियाई टीम के लिए यह टूर्नामैंट का पहला मैच है और उसकी पूरी कोशिश होगी कि वह इसमें जीत के साथ शुरूआत करे। वैस्टइंडीज इस समय अच्छी फार्म में भी है और उसके तूफानी बल्लेबाज क्रिस गेल उसकी सबसे बड़ी ताकत हैं। वैस्टइंडीज ने अपने दोनों अभ्यास मैचों में इंगलैंड और श्रीलंका पर शानदार जीत दर्ज कर अपनी तैयारियों एवं इरादों को जताया था। इस लिहाज से भी भारतीय टीम को विपक्षी टीम के सामने ज्यादा ऐहतियात बरतनी होगी। भारत के लिए राहत की बात यह है कि उसकी ओपनिंग जोड़ी रोहित शर्मा और शिखर धवन वापस ट्रैक पर लौट आई है। पिछले काफी समय से खराब प्रदर्शन के कारण आलोचना झेल रहे दोनों बल्लेबाजों ने पाकिस्तान के खिलाफ मैच में पहले विकेट के लिए 54 रनों की सांझेदारी की थी। युवा बल्लेबाज विराट कोहली के रूप में टीम के पास भरोसेमंद खिलाड़ी हैं और उन्होंने शुक्रवार को नाबाद 36 रन बनाए थे जबकि मध्यक्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना ने नाबाद 35 रनों की पारी खेली। दोनों बल्लेबाजों ने चौथे विकेट के लिए सर्वाधिक 66 रनों की अविजित सांझेदारी भी निभाई।