Cricket

मीरपुर: भले ही लेग स्पिनर रनों को रोकने पर ध्यान देते हो लेकिन अमित मिश्रा का सारा जोर आक्रामक गेंदबाजी पर रहता है और वह बल्लेबाज को नियंत्रित करने पर अधिक ध्यान नहीं देते हैं। मिश्रा ने कहा, ‘‘मैं गेंदबाजी में लडऩे से घबराता नहीं हूं क्योंकि मैं हमेशा विकेट लेने के बारे में सोचता हूं और बल्लेबाज को नियंत्रित करने के बारे में नहीं। मेरा मानना है कि आप रनों का प्रवाह रोकने में कभी सफल नहीं हो सकते लेकिन विकेट लेने का प्रयास जारी रखा जा सकता है। जब आप विकेट लेने का प्रयास करते हैं तो आप बल्लेबाज पर दबाव डालते हैं।’’

मिश्रा ने भारत द्वारा विश्व ट्वेंटी 20 प्रतियोगिता के पहले मैच में पाकिस्तान को सात विकेट से हराए जाने के बाद हुई पे्रस कांफ्रेंस में यह बात कही। मैच के बाद पाकिस्तान के कप्तान मोहम्मद हफीज ने कहा कि उनकी टीम अंतिम ओवरों में अपनी गति को बरकरार नहीं रख पाई। उन्होंने कहा, ‘‘यह वह ट्रैक था जहां हमें 150 रन बनाने चाहिए थे जो अच्छा लक्ष्य रहा होता। लेकिन हम उससे चूक गए। हमने 16वें, 17वें एवं 18वें ओवर में अपनी गति खो दी जो परिणाम में महत्वपूर्ण साबित हुआ। उमर अकमल एवं शोएब मलिक के बीच अच्छी भागीदारी हुई तथा हमें लगा कि हम वे हमें 150 तक ले जाएंगे।’’