Sports

मीरपुर: आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्ड्सन ने आज कहा कि दुबई में इंडियन प्रीमियर लीग के मैचों से आईसीसी का ताल्लुक सिर्फ भ्रष्टाचार निरोधक मसले पर सहयोग मुहैया कराने तक सीमित होगा और इस पर बीसीसीआई से बातचीत चल रही है। रिचर्डसन ने बातचीत में कहा, ‘‘हमारा कार्यालय दुबई में है लिहाजा हम बीसीसीआई को जरुरत पडऩे पर कुछ सुविधायें मुहैया करा सकते हैं। हमारा ताल्लुक सिर्फ भ्रष्टाचार निरोधक पहलू तक ही होगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘बीसीसीआई और आईसीसी की एसीएसयू के बीच बातचीत चल रही है। अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि क्या वाकई हमारी सेवाओं का इस्तेमाल होगा।’’ यह पूछने पर कि क्या बीसीसीआई आईसीसी एसीएसयू यूनिस को रख रखाव का खर्च देता है, रिचर्डसन ने कहा, ‘‘हां, वे लागत का हिस्सा देते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘आईपीएल का यूएई में होना क्रिकेट को इस क्षेत्र में खासकर दुबई में बढावा देगा। इस क्षेत्र को कई बार ईमानदारी से जुड़े मसलों पर आरोपों का सामना करना पड़ा है। हम सभी को आश्वस्त करना चाहते थे कि हमारी टूर्नामेंट पर पैनी नजरें होंगी।’’ रिचर्ड्सन ने कहा, ‘‘बीसीसीआई इस दौरान अपना मन बना लेगा। हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि कम से कम वे ताजा जानकारी से वाकिफ रहें ताकि वे उपलब्ध तकनीक को समझ सकें।’’

उन्हें इस बात का भी भरोसा है कि बीसीसीआई शीर्ष संस्था के संचालन में अधिक सक्रिय भूमिका अदा करेगा, अब जब एन श्रीनिवासन जून में आईसीसी बोर्ड में अध्यक्ष बनने को तैयार है। रिचर्ड्सन ने कहा, ‘‘संस्था के मुख्य कार्यकारी होने के नाते, जिसकी वह (श्रीनिवासन) अध्यक्षता करते हैं, मैं उनके साथ नियमित रूप से बैठकें करूंगा।’’