Sports

नई दिल्ली: इस साल के व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए विभिन्न देशों के खिलाड़ी जहां राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों की तैयारियों में जुटे हैं वहीं ओलंपिक पदक विजेता भारतीय मुक्केबाज विजेंदर सिंह इन दिनों भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और सीआरपीसी की धाराएं रट रहे हैं। हरियाणा पुलिस में डीएसपी पद पर कार्यरत विजेंदर से राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के लिए उनकी तैयारियों के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘अभी तो मैं पुलिस की तैयारियों में लगा हूं। अभी मैं आईपीसी और सीआरपीसी की धाराएं याद कर रहा हूं। एशियाई खेलों में अभी वक्त है।’’

Pics: विजेंदर ने रैम्प पर बिखेरे जलवे और कहा....

बीजिंग ओलंपिक का कांस्य पदक विजेता यह मुक्केबाज इसके अलावा अपनी फिल्म ‘फुगली’ के प्रचार में भी व्यस्त है लेकिन उन्हें उम्मीद है कि वह राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में थोड़ी तैयारियों के बावजूद अच्छा प्रदर्शन करने में सफल रहेंगे। विजेंदर ने कहा, ‘‘मुक्केबाजी के लिए बहुत अधिक तैयारियों की जरुरत नहीं पड़ती। दो तीन महीनों की तैयारी काफी होती है। मैं इसके बाद आगे जो भी टूर्नामेंट होंगे उनमें भाग लूंगा। मेरे कोच जिस भी टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए कहेंगे मैं उसमें खेलूंगा।’’