Cricket

मुंबई: सचिन तेंदुलकर ईएसपीएन क्रिकइन्फो ‘पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर’ के पुरस्कार की दौड़ में अंतिम तीन में जगह बनाने में कामयाब रहे हैं जबकि वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा इससे चूक गए। आस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वार्न और हाल ही में क्रिकेट को अलविदा कहने वाले दक्षिण अफ्रीका के जाक कैलिस भी इस पुरस्कार के दावेदारों में हैं।

 पुरस्कार कल यहां दिया जाएगा जिसमें 1993 से 2013 के बीच सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले क्रिकेटर को सम्मानित किया जाएगा। यह कार्यक्रम ईएसपीएन क्रिकइन्फो की 20वीं सालगिरह के जश्न का एक हिस्सा है।

तेंदुलकर अपनी पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रहे हैं जिन्होंने टेस्ट और वनडे में अनगिनत रिकार्ड बनाए। उसी तरह वार्न जैसा करिश्माई गेंदबाज इस दौर में कोई पैदा नहीं हुआ। उन्होंने लेग स्पिन गेंदबाजी को भी पुनर्जीवित किया। हरफनमौलाओं में कैलिस का नाम सबसे आगे है। उनकी तुलना अक्सर महानतम हरफनमौला गैरी सोबर्स से की जाती है।

टेस्ट क्रिकेट में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर का रिकार्ड बनाने वाले लारा और टेस्ट में सर्वाधिक विकेट लेने वाले श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन को भी 50 सदस्यीय जूरी ने नामांकित किया था लेकिन वे अंतिम तीन में जगह नहीं बना सके। जूरी में प्रमुख खिलाड़ी, क्रिकेट लेखक और कमेंटेटर शामिल थे। तेंदुलकर ने अपने 24 साल के सुनहरे कॅरियर को पिछले साल नवंबर में अलविदा कहा। वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी टेस्ट पारी में उन्होंने 74 रन बनाए थे।

तेंदुलकर के नाम सर्वाधिक टेस्ट रन, टेस्ट शतक, सर्वाधिक वनडे रन, वनडे शतक का रिकार्ड है। वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों का शतक लगाने वाले इकलौते बल्लेबाज हैं। वहीं आस्ट्रेलिया के वार्न 700 टेस्ट विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज थे। कैलिस ने टेस्ट और वनडे में 10000 रन बनाने के अलावा 577 अंतरराष्ट्रीय विकेट भी लिए।