Sports

कोलकाता: ईडन गार्डन्स में बेहतरीन रिकार्ड रखने वाले आफ स्पिनर हरभजन सिंह ने आज इस मैदान की मां की तरह बताया जिसने हमेशा अपने बेटे को कुछ दिया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह एक बार फिर उनके लिए विशेष साबित होगा क्योंकि वह पंजाब के लिए विजय हजारे ट्रॉफी जीतने का प्रयास कर रहे हैं। मौजूदा घरेलू वन डे टूर्नामेंट में अपने राज्य की टीम की अगुआई कर रहे हरभजन को सकारात्मक नतीजे मिलने की उम्मीद है।

पंजाब के कप्तान ने रेलवे के खिलाफ होने वाले क्वार्टर फाइनल मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘मैं जब भी ईडन में आया कभी खाली हाथ नहीं लौटा। यह मेरे लिए काफी विशेष और मेरे दिल के करीब है। मैं भारत के लिए खेलूं, मुंबई इंडियन्स के लिए या किसी और टीम के लिए, ईडन ने मुझे सब कुछ दिया है। यह मेरे लिए मां की तरह है। उम्मीद करता हूं कि यह दोबारा मेरे लिए विशेष होगा।’’

ईडन में ही 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हरभजन ने भारत की ऐतिहासिक टेस्ट जीत में अहम भूमिका निभाते हुए मैच में 13 विकेट चटकाए थे। इसके बाद उनकी आईपीएल टीम मुंबई इंडियन्स ने पिछले साल यहीं फाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स को हराकर खिताब जीता।