Sports

फतुल्लाह: दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड में शर्मनाक हार झेलने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम नए कप्तान विराट कोहली के साथ कल एशिया कप के पहले मैच में जब बांग्लादेश से खेलेगी तो उसका लक्ष्य जीत की राह पर लौटने का होगा। पांच बार की चैम्पियन भारतीय टीम लगातार श्रृंखलाएं हारकर यहां पहुंची है। पिछली बार 2012 में भी इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में लगातार आठ टेस्ट हारने के बाद टीम एशिया कप खेलने आई थी।

इस बार दक्षिण अफ्रीका ने भारत को टेस्ट में 1-0 से और वन डे में 2-0 से हराया जबकि न्यूजीलैंड में भी टेस्ट और वन डे में हार झेलनी पड़ी। विराट कोहली एंड कंपनी को हालांकि अपनी ही समस्याओं से जूझ रहे बांग्लादेश के खिलाफ 2014 में पहली जीत दर्ज करने की उम्मीद होगी। बांग्लादेया के सलामी बल्लेबाज तामिम इकबाल चोट के कारण टूर्नामेंट से बाहर है जबकि हरफनमौला शाकिब अल हसन टीवी पर अभद्र इशारे के कारण दो मैचों का प्रतिबंध झेल रहे हैं।

अनुभवी तेज गेंदबाज मशरेफ मुर्तजा भी घुटने में सूजन से जूझ रहे हैं जबकि कप्तान मुशफिकर रहीम की उंगली में चोट लगी है। इसके अलावा चयन विवाद को लेकर भी बांग्लादेश सुर्खियों में रहा है। कप्तान मुशफिकर ने मुख्य चयनकर्ता को आड़े हाथों लेकर कहा गया कि टीम चुनते समय उनसे सलाह नहीं ली गई। भारतीय टीम चोटिल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना के बिना यहां आई है। ऐसे में कोहली भारतीय बल्लेबाजी की धुरी होगी जिनका बांग्लादेश के खिलाफ औसत 122 है।