Cricket

वेलिंगटनः वेलिंगटन टेस्ट में जिस अंदाज में कीवी टीम ने टीम इंडिया के मुंह से जीत छीनी उससे हर भारतीय क्रिकेट फैन बेहद निराश था। ऐसे में उम्मीद थी कि कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इस पर अफसोस जताते हुए आगे बेहतर करने का वादा करेंगे। लेकिन धोनी ने कहा, 'मैं उनमें से हूं जो प्रक्रिया के बारे में ज्यादा सोचता हूं ना कि नतीजों के बारे में। हमने उपमहाद्वीप के बाहर लंबे अंतराल के बाद खेला है। अगर आप उन दो सीरीज को देखें (2011 में 0-4 से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार और 0-4 से इंग्लैंड के खिलाफ हार) और उसकी तुलना मौजूदा प्रदर्शन से करें तो मेरा मानना है कि काफी सुधार हुआ है। यही सब कुछ है, आप तब तक सुधार करना चाहते हो जब तक आप मौकों को भुनाने की लय में ना आ जाओ। हमारी बल्लेबाजी अच्छी रही है, हां, सुधार की जरूरत भी है और मैं उस चीज को ध्यान में रखते हुए अगली सीरीज की तरफ बढ़ना चाहूंगा।'

धोनी ने दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड दौरे पर मिली शर्मनाक हार के बारे में बात करते हुए कहा, 'एक हद तक वन डे सीरीज बेहद निराशाजनक थी, खासतौर पर न्यूजीलैंड में। जबकि दक्षिण अफ्रीका में हमें तैयारी का ज्यादा मौका ही नहीं मिला था। हम अच्छी शुरुआत का फायदा उठाने से बार-बार चूकते दिखे। टेस्ट मैचों में भी इसकी झलक साफ दिखी। ये एक ऐसी चीज है जिस पर हमे ध्यान देना होगा। अहम ये है कि हमे देखना होगा कि कितना सुधार हुआ है और दक्षिण अफ्रीकी दौरे को देखें तो काफी सकारात्मक चीजें सामने निकल कर आई हैं।'