Sports

लखनऊ: लगातार लचर प्रदर्शन करने वाली मुम्बई मैजीशियंस की टीम ने आज यहां मजबूत उत्तर प्रदेश विजार्ड्स को उसकी ही मांद में 3-2 से परास्त करके दूसरी हॉकी इंडिया लीग (एचआईएल) में जीत के साथ विदाई ली। पहले ही सेमीफाइनल में पहुंच चुके विजार्ड्स का अपने मैदान पर निराशाजनक प्रदर्शन का सिलसिला जारी रहा और मुम्बई ने उसकी रक्षापंक्ति की खामियों का भरपूर फायदा उठाया। मुम्बई की यह लगातार दूसरी जीत थी। अपने पिछले मैच में उसने कलिंगा लांसर्स को 3-2 से ही हराया था।

मेजर ध्यानचंद एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम में खेले गए मुकाबले के पहले क्वार्टर में दोनों टीमों ने एक-दूसरे पर बढ़त बनाने की कोशिश की लेकिन विजार्ड्स को पहली सफलता 22वें मिनट में नितिन तिमैया द्वारा दागे गए मैदानी गोल के रूप में मिली। विजार्ड्स अभी इसके सुरूर से उबरे नहीं थे कि मैजीशियंस ने एक के बाद एक तीन गोल दागकर उन्हें सकते में डाल दिया। मैजीशियंस के गुरजिन्दर सिंह ने 31वें मिनट में पेनल्टी कार्नर को गोल में तब्दील करके टीम को बराबरी दिलाई। उसके बाद प्रभजोत सिंह ने 56वें तथा कप्तान ग्लेन टर्नर ने 61वें मिनट में गोल दागकर विजार्ड्स को स्तब्ध कर दिया। हालांकि उसके एक ही मिनट बाद विजार्ड्स के कप्तान वी. रघुनाथ ने पेनल्टी कार्नर को गोल में तब्दील करके मैजीशियंस की बढ़त को कम कर दिया लेकिन टीम लीग के इस सत्र में अपने घरेलू मैदान पर खेले गये पांच मैचों में से तीसरी हार को नहीं रोक सकी।