Other Games

नई दिल्ली: संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने लोकसभा चुनाव से पहले अपने अंतरिम बजट में खेलों के लिए 12 करोड़ रुपए की मामूली वृद्धि की है। वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने सोमवार को लोकसभा में अंतरिम बजट पेश किया। इसमें केन्द्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्रालय को 12 करोड़ रुपए की वृद्धि मिली है।

वित्त मंत्री ने 1093 करोड़ रुपए योजनागत व्यय के लिए आवंटित किए हैं जबकि 126 करोड़ रुपए गैर योजनागत व्यय के लिए रखे गए हैं। इस तरह यह कुल आंकडा 1219 करोड़ रुपए का बनता है। योजनागत व्यय के लिए बजट पिछली बार की तरह ही 1093 करोड़ रुपए है जबकि गैर योजना के लिए इसे 114.76 करोड़ रुपए से बढाकर 126 करोड़ रुपए किया गया है। पिछली इसी अवधि के दौरान कुल बजट 1207.76 करोड़ रुपए था।

कुल योजनागत व्यय में 631.9 करोड़ रुपए खेलों के लिए और 239.74 करोड़ रुपए युवा कल्याण योजनाओं के लिए रखे गए हैं जबकि पिछली बार यह आंकडा क्रमश: 785.31 करोड़ रुपए और 296.77 करोड़ रुपए था। भारतीय खेल प्राधिकरण को पांच करोड़ रुपए की वृद्धि के साथ 325.10 करोड़ रुपए मिलेंगे। राष्ट्रीय खेल महासंघों की मदद के लिए पिछले वर्ष के पिछले वर्ष के 160 करोड़ रुपए के मुकाबले इस बार 165 करोड़ रुपए रखे गए हैं। डोपिंग रोधी गतिविधियों के लिए पिछली बार के 8.30 करोड़ रुपए के मुकाबले इस बार 11.60 करोड़ रुपए रखे गए हैं।