Hockey

लखनऊ: हॉकी इंडिया लीग (एचआईएल) के दूसरे सत्र में अब तक मिला-जुला प्रदर्शन करने वाली उत्तर प्रदेश विजार्ड्स मंगलवार को अपने आखिरी लीग मैच में प्रतियोगिता की सबसे फिसड्डी टीम साबित हुई मुम्बई मैजीशियंस से अपने मैदान पर दो-दो हाथ करेगी। लीग की अंक तालिका में नौ मुकाबलों में से चार जीतकर तीसरे स्थान पर रही विजार्ड्स तालिका में सबसे निचली पायदान पर खड़ी मुम्बई के खिलाफ मुकाबले में अपने मैदान पर मनोबल बढ़ाने वाली जीत हासिल करना चाहेगी।

विजार्ड्स एचआईएल के दूसरे सत्र में अब तक अपने टर्फ पर खेले गए चार मुकाबलों में से सिर्फ एक ही जीत सकी है। लीग में अब तक उतार-चढ़ाव भरा प्रदर्शन करने वाले विजार्ड्स को गत 15 फरवरी को अपने पिछले लीग मुकाबले में पंजाब वारियर्स से मिली।-2 की पराजय को पीछे छोड़कर नई शुरुआत करनी होगी क्योंकि नया जज्बा ही उसे खिताब तक ले जा सकेगा। ड्रैग फ्लिकर वी. रघुनाथ की अगुवाई वाली उत्तर प्रदेश विजार्ड्स के पास महान डच खिलाड़ी टेन डे नुएर, ल्यूक डोएरनर, डेविड एलेग्रे, तुषार खाण्डेकर और निकिन तिमैया जैसे बेहतरीन खिलाड़ी तो हैं लेकिन अच्छी टीम होने के बावजूद मिले मौकों को भुनाने में नाकामी और शुरुआत में प्रतिद्वंद्वी को हावी होने देने की कमजोरी से विजार्ड्स अब तक उबर नहीं सके हैं। नाकआउट दौर से पहले उत्तर प्रदेश की टीम के पास अपनी यह कमजोरी सुधारने का आखिरी मौका होगा।