Cricket

कोलकाता: मध्यक्रम के बल्लेबाज मनोज तिवारी को निराशा है कि कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) ने आईपीएल में खिलाडिय़ों की नीलामी के दौरान उन्हें नजरअंदाज किया लेकिन उनकी निगाहें आगामी विजय हजारे ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन करके भारतीय क्रिकेेट टीम में वापसी करने पर टिकी हैं। विजय हजारे ट्रॉफी 27 फरवरी से शुरू होगी। तिवारी पिछले सत्र में केकेआर की तरफ से खेले थे लेकिन उन्हें इस साल दिल्ली डेयरडेविल्स ने 2.80 करोड़ रुपए में खरीदा है।
 
उन्होंने कहा, ‘‘आईपीएल बड़ा मंच है लेकिन मेरा ध्यान अभी हजारे ट्रॉफी पर लगा है क्योंकि यह पहले होगी। मैं वापसी के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूं। सभी खिलाडिय़ों की तरह मेरा भी सपना है कि मैं विश्व कप में देश का प्रतिनिधित्व करूं लेकिन अभी मेरा ध्यान घरेलू स्तर के मैचों पर लगा है। उम्मीद है कि मैं इंग्लैंड दौरे के लिए राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने में सफल रहूंगा।’’ तिवारी को दुख है कि वह आईपीएल सात में अपने शहर की तरफ से नहीं खेल पाएंगे। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने ईडन गार्डन्स में क्रिकेट सीखी और यह कहते हुए निराशा हो रही है कि मैं यहां घरेलू टीम का प्रतिनिधित्व नहीं कर पाउंगा। मैं केवल अपने लिए ही नहीं बल्कि घरेलू दर्शकों के लिए भी निराश हूं।’’