Cricket

वेलिंगटन: टीम इंडिया के तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंगटन टेस्ट की पहली पारी में 6 विकेट लेकर विदेशी पिचों पर विकेटों की सेंचुरी भी जड़ डाली, लेकिन उन्हें एक बात की बहुत तकलीफ है। जब उनसे पूछा गया कि क्या 70 के करीब वन डे और 55 टेस्ट खेलने से उन्हें एक बेहतर गेंदबाज बनने में मदद मिली है तो उन्होंने कहा, 'आप केवल अनुभव से ही सीखते हो। मैंने अपनी जिंदगी में काफी उतार-चढ़ाव देखे हैं। जब कोई अहम दौरा होता है, मुझे बाहर कर दिया जाता है। जब कोई आसान दौरा होता तो मैं टीम में होता हूं। यह मेरे लिए बहुत कठिन चीज है।'

ईशांत ने कहा, 'मैं दक्षिण अफ्रीका के बाद से अच्छी गेंदबाजी कर रहा हूं। यह सिर्फ इतना है कि अब लोग मेरे प्रदर्शन पर ध्यान दे रहे हैं, क्योंकि अब मैं ज्यादा विकेट चटका रहा हूं। मैंने कुछ भी अलग नहीं किया है। सिर्फ सही क्षेत्र में गेंदबाजी कर रहा हूं, बल्कि हम सभी ऐसा करते हैं। हम सभी अच्छी गेंदबाजी करते हैं। केवल मोहम्मद शमी और मुझे ही विकेट मिले। जहीर खान दुर्भाग्यशाली रहे कि उन्हें कोई विकेट नहीं मिला।'